Khairagarh Assembly By Election: कांग्रेस-भाजपा में बैठकों का दौर शुरू, प्रत्याशी चयन में जातिवाद का पलड़ा भारी!

सीजी क्रांति/खैरागढ़। खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव (Khairagarh Assembly By Election) को लेकर राजनीतिक दलों ने कमर कस ली है। मुख्य दल कांग्रेस-भाजपा में बैठकों का दौर शुरू हो चुका है। जहां भाजपा ने सोमवार को राजनांदगाव में बैठक कर दावेदारों के नामों पर चर्चा किये।

मंगलवार को कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक हुई। इस बैठक में खैरागढ़ उपचुनाव के लिए कांग्रेस प्रत्याशी के नाम पर चर्चा की गई। यह बैठक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में हुई। जिसमें प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम शामिल हुए थे।

यह भी पढ़ें…खैरागढ़: दिवंगत MLA देवव्रत सिंह की दूसरी पत्नी विभा का पदमा पर बड़ा आरोप!

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस संगठनात्मक रूप से चुनाव लड़ेगी। बैठक में सर्वे के आधार पर प्रत्याशी चयन की बात तय हुई है। जिसे लेकर अब कांग्रेस ने सर्वे भी शुरू कर दिया है। सप्ताह भर के भीतर चुनाव समिति की दूसरी बैठक होगी। आगे अब दूसरी बैठक में प्रत्याशी का नाम तय हो सकता है। जैसे ही नाम तय होगा उसके बाद आलाकमान को भेजा जाएगा।

यह भी पढ़ें…दो लाख से ज्यादा मतदाता चुनेंगे विधायक

कांग्रेस की ओर से दावेदारों के कुल 23 आवेदन मिले हैं। जो चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं, जिन्होंने टिकट मांगी है। जिसमे सामान्य चेहरे लेकर जातिगत चेहरे भी शामिल है। बतया जा रहा कि 22 से 23 मार्च तक खैरागढ़ के लिए प्रत्याशी के नाम का ऐलान कांग्रेस कर देगी।

खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी मरवाही सीट की तरह ही संगठन के नेता जुटेंगे और कांग्रेस को जिताने के लिए पुरजोर कोशिश करेंगे। बताया जा रहा है कि प्रत्याशी चयन को लेकर जातिगत बाहुल्यता को ध्यान में रखते हुए पार्टी विचार कर रही है। लेकिन कहा जा रहा है कि इस बार जातिगत फैक्टर के साथ-साथ जिताऊ कैंडिडेट भी महत्वपूर्ण होगा। चर्चा यह भी है कि पद्मा सिंह के खिलाफ विभा सिंह द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद दावेदारी कमजोर पड़ गई है।

अब देखने वाली बात यह है कि पार्टी पद्मा सिंह के नाम को लेकर क्या रणनीति बनाती है। वहीं जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष नवाज खान की पसंद को तवज्जों मिल सकती है। माना जा रहा है कि नवाज की ओर से उत्तम सिंह ठाकुर का नाम आगे किया गया है। इसके अलावा पूर्व विधायक गिरवर जंघेल का नाम भी दावेदारों की सूची में है। दावेदारों की रेस में यशोदा नीलांबर वर्मा का नाम भी दमदारी से चल रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि वह जातिगत समीकरण में फिट बैठने के साथ ही महिला प्रत्याशी के रुप में पार्टी के लिए एक बड़ा विकल्प हो सकता है।

Leave a Comment

ताजा खबर