हाथियों के हमले में पिता—पुत्री की दर्दनाक मौत, पत्नि ने भागकर बचाई जान… ग्रामीणों ने शव देने से किया इंकार!

हाथियों के हमले में पिता—पुत्री की दर्दनाक मौत
FILE PHOTO

मनेन्द्रगढ़। कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ वनमंडल अंतर्गत बेलगांव में शनिवार रात 2 बजे अपने मकान में सो रहे परिवार पर हाथियों के झुंड ने हमला कर दिया। इस हमले में पिता—पुत्री की दर्दनाक मौत हो गई। चीख—पुकार सुनकर बच्ची की मां की नींद खुल गई और उसने भागकर अपनी जान बचाई।

यह भी पढ़ें…

मिली जानकारी के मुताबिक 31 वर्षीय ग्रामीण गुलाब सिंह अपनी पत्नी और 6 वर्षीय पुत्री रूपा सिंह के साथ अपने निर्माणाधीन कच्चे मकान में सोया था। इस बीच हाथियों ने आधा घर ढहा दिया और गुलाब सिंह व उसकी बेटी को कुचलकर मार डाला।

इस दौरान नींद खुल जाने के कारण पत्नी ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। महिला की चीख सुनकर गांव के अन्य लोग शोर मचाने लगे तो हाथी वहां से चले गए। बता दें कि मध्य प्रदेश से लौटने के बाद 10 हाथियों का दल कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ वनमंडल में घूम रहा है।

ग्रामीणों ने किया हंगामा, शव देने से इंकार!

बताया जा रहा है कि हाथियों के हमले से पिता—पुत्री की मौत की खबर के बाद रविवार की सुबह 9 बजे अधिकारियों के पहुंचने पर गांववालों ने हंगामा कर दिया और उन्हें शव देने से मना कर दिया। बाद में सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह लोगों को शांत कराया।

विधायक ने जताया दु:ख

घटना की जानकारी के बाद भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो ने शोक-संतप्त परिवार को सांत्वना दी और परिवार के सदस्यों को ढांढस बंधाया। इस दौरान उनके साथ डीएफओ लोकनाथ पटेल, एसडीएम अरूण कुमार सोनकर, तहसीलदार अशोक सिंह, थाना प्रभारी दीपेश कुमार सैनी, जनकपुर रेंजर चंद्रमणी तिवारी, रविप्रताप सिंह, अंकुर सिंह एवं अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

Leave a Comment

ताजा खबर