बालोद बंद के दौरान जमकर चले लाठी—डंडे, छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना और व्यापारियों में मारपीट, एसपी बोले — होगी कार्रवाई

हमले के विरोध में 25 मई को बालोद बंद
लात—घूसे के साथ जमकर लाठी—डंडे भी चले

बालोद। पाटेश्वर धाम डौंडीलोहारा क्षेत्र से लगे ग्राम तुएगोंदी में विगत दिनों आदिवासी समाज के लोगों पर देव सेवा कार्यक्रम के दौरान हुये हमले के विरोध में 25 मई को बालोद बंद के दौरान दो पक्ष आपस में भिड़ गये। इस दौरान लात—घूसे के साथ जमकर लाठी—डंडे भी चले। बता दें कि सर्व छत्तीसगढ़िया समाज और क्रांति सेना द्वारा संत बालक दास को भी गिरफ्तार करने की मांग को लेकर बालोद बंद का आह्वान किया गया था। 

शहरी क्षेत्रों में बंद को लेकर सर्व छत्तीसगढ़िया समाज और क्रांति सेना के लोग व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद कराने आह्वान कर रहे थे। इसी दौरान दोपहर करीब 12 बजे के आसपास गुंडरदेही में क्रांति सेना और व्यापारियों में दुकान बंद करने को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि दोनों पक्षों में मारपीट की नौबत आ गई। इस दौरान लात—घूसे के साथ जमकर लाठी—डंडे भी चले। इस घटना में कई लोग घोयल हुये है। घटना स्थल पर पहुंची पुलिस भी इस दौरान बेबस नजर आये। मारपीट का वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ है।

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई — एसपी

मामले में एसपी गोवर्धन ठाकुर का कहना है कि जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। कुछ लोग घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि बंद के दौरान गुंडरदेही में दुर्ग से भी लोग आ गए थे। जिन्होंने व्यापारियों से मारपीट की है। दोनों तरफ से मारपीट हुई है या नहीं ये जांच का विषय है। घायलों के प्राथमिक उपचार के बाद आगे की कार्यवाही स्थानीय पुलिस कर रही है।

Leave a Comment

ताजा खबर