स्कूल शिक्षा विभाग ने महिला प्राचार्य समेत दो व्यख्याताओं को किया निलंबित, क्या है मामला, जानने पढ़ें पूरी खबर

file photo


सीजी क्रांति/रायपुर। छत्तीसगढ़ में स्कूल शिक्षा विभाग ने कार्य में अनियमितता बरते जाने पर महिला प्राचार्य समेत दो व्याख्याताओं को निलंबित कर दिया है। यह आदेश शुक्रवार को जारी किया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में शासकीय हाई स्कूल बहतराई जिला बिलासपुर की प्राचार्य निशा तिवारी, व्याख्याता जितेंद्र कुमार ध्रुव, व्याख्याता अल्का सिंह को निलंबित किया गया है। प्राचार्य पर आरोप है कि उन्होंने शाला विकास समिति की अनुमति के बगैर स्कूल के 20 स्टूल एक कोचिंग संचालक को दे दिए। बच्चों से रेडक्रॉस के नाम पर अधिक शुल्क वसूलने, शाला अनुदान की राशि को बगैर शाला विकास समिति के अनुमोदन के खर्च करने समेत अन्य मामले शामिल है।

जारी किए गए आदेश में बताया गया है कि स्कूल की प्राचार्य निशा तिवारी दिनांक 18.07.2022 से 25.09 2022 तक कुल 70 दिनों तक मेडिकल लीव में रही थी। उनके अवकाश में रहने के दौरान व्याख्याता एलबी श्वेता सिंह प्रभारी प्राचार्य के पद पर थी।
इस दौरान स्कूल में पदस्थ व्यख्याता एलबी अल्का सिंह और व्याख्याता जितेंद्र कुमार ध्रुव ने भी छुट्टियां ले लीं। दोनों ने प्रभारी प्राचार्य अल्का सिंह को अवकाश के लिए आवेदन देने की बजाय निशा तिवारी को दे दिया और निशा तिवारी ने खुद अवकाश में रहने के बावजूद उनका छुट्टियां स्वीकृत कर दीं।

प्राचार्य निशा तिवारी ने बिना विद्यालय समिति के सहमति के स्कूल के 20 स्टूल एक कोचिंग संचालक को दे दिए। बच्चों से रेडक्रॉस के नाम पर अधिक शुल्क वसूलने, शाला अनुदान की राशि को बगैर शाला विकास समिति के अनुमोदन के खर्च करने, प्रभारी प्राचार्य को स्कूल के समस्त प्रभार नहीं सौपने,रिकॉर्ड अव्यवस्थित रखने के चलते उन्हें और जितेंद्र ध्रुव और अल्का सिंह को निलंबित कर जेडी ऑफिस बिलासपुर में अटैच किया गया है।

Leave a Comment

ताजा खबर