रिश्वतखोर सरपंच-सचिव और सुस्त प्रशासन से हारा पंच, एसडीएम कार्यालय में फांसी लगाकर आत्महत्या

सीजी क्रांति न्यूज/भिलाई। सरपंच-सचिव की रिश्वतखोरी और धमकी से परेशान होने के बाद प्रशासन के सुस्त ताने-बाने में उलझ कर परेशान हो चुका गांव के पंच ने एसडीएम कार्यालय में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसने सुसाईड नोट भी लिखा है, जिसमें सरपंच-सचिव द्वारा परेशान किए जाने का उल्लेख है।

शुक्रवार को सुबह पंच का शव एसडीएम कार्यालय के बाउंड्रीवॉल की दीवार में फंदे में झुलता हुआ मिला। सूचना मिलने के बाद पुलिस पहुंची। शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम कराया और अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस अपराध दर्ज कर मामले की विवेचना कर रही है।

बता दें कि दुर्ग जिले में बागडूमर ग्राम पंचायत के पंच सुखीराम रावत ने सुसाइड नोट एसडीएम जागेश कौशल के नाम लिखा है। उसमें जिक्र है-सरपंच मदनलाल जांगड़े और सचिव रेखा मालवीय उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे। जब से वो पंच बना है। उसके परिवार और वार्ड 13 के सभी लोग परेशान हैं।

सरपंच और सचिव के द्वारा राशन कार्ड बनाने के नाम पर 2 हजार रुपए, बिजली फार्म में साइन करने के लिए 2 हजार, जाति और निवासी प्रमाण पत्र में साइन करने के लिए 2 हजार रुपए लिए जा रहे हैं। विरोध करने पर उसका घर तोड़ने की धमकी देते हैं।

इतना ही नहीं उन्होंने उसे 20 जुलाई 2022, 25 जुलाई 2022 और 1 अगस्त 2022 को तीन बार नोटिस भी दिया था। तब से लेकर लगातार उनके द्वारा धमकी दी जा रही है। उन्होंने उसे आत्महत्या करने के लिए मजबूर कर दिया है। पंच ने एसडीएम से अंतिम प्रार्थना की है कि वो उन्हें उनके पद से हटा दें।

Leave a Comment

ताजा खबर