नहीं रहे पूर्व मंत्री लीलाराम भोजवानी, गंभीर हालत में लाया गया था रायपुर, राजनांदगांव ले जाने के दौरान तोड़ा दम

वरिष्ठ नेता लीलाराम भोजवानी का निधन

सीजी क्रांति/राजनांदगांव। राजनांदगांव के दो बार के विधायक रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता लीलाराम भोजवानी का निधन हो गया। गुरुवार दोपहर 3 बजे उनकी अंतिम यात्रा बांसपाई पारा पर स्थित निवास से निकाली जाएगी‌। तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें रायपुर की अस्तपाल में भर्ती किया गया था। अस्पताल में उनकी स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही थी इसके बाद परिजनों ने लीलाराम भोजवानी को वापस राजनांदगांव ले जाने का फैसला किया इसी दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

लीलाराम भोजवानी का जन्म 24 जनवरी 1941 में हुआ था। उनके 4 पुत्र और 3 पुत्रियां है। 1965 में राजनांदगांव से पार्षद बने। 1990 और 1998 में राजनांदगांव विधानसभा से दो बार विधायक बने। अविभाजित मध्यप्रदेश में श्रम मंत्री रहे। भोजवानी कई वर्षो तक सत्ता और संगठन सक्रिय रहे। वे भाजपा विधायक दल के कोषाध्यक्ष, राजनांदगांव भाजपा के जिलाध्यक्ष, छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्राक्कलन समिति के सदस्य, समेत कई राजनीतिक व सामाजिक पद पर रहे।

लीलाराम भोजवानी ने अनेकों श्रमिक आंदोलन का नेतृत्व किया। बीएनसी मिल्स राजनांदगांव के मजदूरो, मुर्रा-पोहा श्रमिकों, झुग्गी झोपड़वासियों की समस्याओं तथा समाजसेवी संस्थाओं के अलावा भाजपा के आंदोलनों के कारण कई बार जेल यात्रा की। वे रायपुर से प्रकाशित हिन्दी दैनिक के संवाददाता भी रहे।

Leave a Comment

ताजा खबर