भाजपा की नगरीय सत्ता गिराने वाले पार्षद पति के साथ 6 पार्षद पार्टी से निष्कासित, लेटर सोशल मीडिया में वायरल!

फाइल फोटो
फाइल फोटो

सीजी क्रांति/खैरागढ़। अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने वाले छुईखदान नगर पंचायत के 6 पार्षद और एक पार्षद पति को 6 साल के लिए पार्टी की सदस्यता से निष्कासित कर दिया है। भाजपा के इस कदम के बाद अब कांग्रेस को नगरीय सत्ता बनाने में आसानी होगी। सोशल मीडिया में वायरल पत्र के अनुसार प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि पार्टी की छवि धूमिल करने वाला कृत्य है। उन्होंने कहा है कि पार्टी विरोधी काम करने वाले पार्षद उमाकांत महोबिया, राकेश वैष्णव, सुरेश यादव, पन्ना मांडवी, इमरान खान, अनुभा जैन और उनके पति संजय जैन को पार्टी से निष्कासित किया जाता है।

यह भी पढ़ें…भाजपा की नगरीय सरकार धड़ाम…अविश्वास प्रस्ताव ने छिनी अध्यक्ष की कुर्सी, प्रस्ताव के खिलाफ 3 तो, पक्ष में पड़े 12 मत!

पार्षदों के नाम से आये निष्कासन पत्र में लिखा गया है…आपके विरूद्ध आरोप है कि नगर पंचायत छुईखदान अध्यक्ष दीपाली जैन (जो कि भारतीय जनता पार्टी से निर्वाचित है) के विरूद्ध आपके द्वारा अविश्वास प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया है। यह पार्टी की छवि धूमिल करने का कृत्य है। यह गंभीर अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने पार्टी की नगर पंचायत अध्यक्ष के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने के आरोप में आपको तत्काल प्रभाव से पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से 6 वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया है।

पढ़िए…किसके पत्र में क्या लिखा

नोट – ये सभी लेटर सोशल मीडिया में वायरल हो रहे है, सीजी क्रांति इसकी पुष्टि नहीं करता है

Leave a Comment

ताजा खबर