बेईमानी की जरीब से पटवारी ने नाप डाला अपना ही जमीर : फर्जी ऋण पुस्तिका तैयार कर बेचवा डाली ढाई एकड़ जमीन, केस दर्ज!

फाइल फोटो क्रेडिट- पत्रिका डॉट कॉम
फाइल फोटो क्रेडिट- पत्रिका डॉट कॉम

सीजी क्रांति/खैरागढ़। ठेलकाडीह थाने में जमीन फर्जीवाड़ा का एक मामला सामने आया है। जिसमें दलाल ने पहले पटवारी के सहारे करीब 1.098 हेक्टेयर जमीन की फर्जी ऋण पुस्तिका तैयार किया और फिर करीब सात लाख रुपये में जमीन का सौदा कर दिया। वही आरोपी को अलग-अलग माध्यमों से करीब 6 लाख 80 हजार रुपये भी मिल गए। लेकिन राजनांदगांव निवासी प्रार्थी तिलक वर्मा जब जमीन पर कब्जा जमाने गए तो संबंधित खसरा नंबर की जमीन मौके पर नहीं मिली। इस तरह पूरे फर्जीवाड़ा का खुलासा हो गया।

यह भी पढ़ें – शादी समारोह में शामिल होने गया था परिवार, लौटे तो आभूषण व नकद पार

मामला पटवारी हल्का नंबर 18 पांडादाह के तिलईभाट गांव का है। प्रार्थी तिलक वर्मा की शिकायत पर पुलिस ने तिलईभाट निवासी आरोपी चेतन वर्मा के खिलाफ धारा 420, 467, 468, 471, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। वही आरोपी के गिरफ्तार की तैयारी चल रही है।

Online FIR Copy

12 बिंदुओं में नप गए तत्कालीन पटवारी

ठेलकाडीह पुलिस ने शिकायत के बाद प्रार्थी और आरोपी दोनों का ही बयान दर्ज किया। वही दस्तावेजों की जांच के लिए तहसील कार्यालय खैरागढ़ मामले का एक प्रतिवेदन प्रेषित किया। जिसमें पुलिस ने संबंधित नक्शा-खसरा वाले जमीन का ब्यौरा मांगा। जिसके जवाब में वर्तमान पटवारी ने 12 बिंदुओं पर एक प्रतिवेदन पेश किया। प्रतिवेदन के 11वें बिंदु में विवादित भूमि खसरा क्रमांक 68/3 रकबा 1.098 हेक्टेयर भूमि का अधिकार अभिलेख एवं मैनुअल खसरा, बी-1, नक्शा से पुष्टि नहीं होने की बात कही गई है, वही इस तरह की कोई खसरा अस्तित्व में नहीं होना बताया गया है।

यह भी पढ़ें – चुनावी मैदान में उतरा पहला प्रत्याशी, जानिए जिपं सभापति विप्लव किस पार्टी से लड़ेंगे उपचुनाव

फर्जी पुस्तिका के साथ ऑनलाइन अपडेट

आरोपी के साथ मिलकर तत्कालीन पटवारी ने फर्जी दस्तावेज तैयार किया। वही विवादित भूमि का नया बटांकन तैयार कर ऑनलाइन एंट्री कर नया खसरा न. 68/3 रकबा 1.098 हेक्टेयर भूमि को आरोपी चेतन वर्मा के नाम पर दर्ज किया गया। उक्त जमीन का ऋण पुस्तिका भी तैयार किया और तिलक वर्मा उर्फ राजा के पास 6,80,000 रुपये में बेच दिया।

जमीन की रजिस्ट्री भी हो गई?

पटवारी ने ऋण पुस्तिका तैयार करने के अलावा ऑनलाइन नक्शा और खसरा भी तैयार किया था। वही ऑनलाइन नक्शा-खसरा के माध्यम से जमीन का सौदा हो गया और बड़ी बात तो यह है कि जमीन की रजिस्ट्री भी हो गई। पुलिस ने जब पूरे मामले की तफ्तीश की तो आरोपी चेतन वर्मा और तत्कालीन पटवारी की धोखाधड़ी का भांडा फूट गया।

पटवारियों का सहयोगी था आरोपी

आरोपी चेतन बीते कई सालों से पांडादाह हल्का में काम करने वाले पटवारियों के सहयोगी के रूप में काम करता था। इसलिए पटवारी को साथ मिलाकर उसने कारनामा किया। उक्त मामले में बैंक एकाउंट में पहले 2 लाख 70 हजार लिया। उसके बाद RTGS के माध्यम से 40 हजार और फिर साढ़े तीन लाख एक्सिस बैंक चेक के अलावा नगदी 20 हजार रुपए मिलाकर कुल 6 लाख 80 हजार ले चुका है। पुलिस अब यह पता करने में जुटी है कि आखिर आरोपी ने किस पटवारी के कार्यकाल के दौरान फर्जी काम को अंजाम दिया है।

जमीन फर्जीवाड़ा का मामला सामने आया है। अभी उसी पर काम चल रहा है। आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वही जल्द ही पुलिस पूरे मामले का खुलासा करेगी।- सतीश पुरिया, थाना प्रभारी ठेलकाडीह

नो एडिटिंग- पढि़ए…एफआइआर में दर्ज प्रार्थी की शिकायत

तिलक वर्मा……महोदय निवेदन है कि मै तिलक वर्मा उर्फ राजा पिता श्री गरीब दास वर्मा उम्र 27 साल निवासी नया ढाबा रोड मोतीपुर वार्ड न. 05 राजनांदगांव का निवासी हूं, कि मुझे चेतन वर्मा के द्वारा उसकी जमीन जो ग्राम तिलईभाठ के प.ह.न.18, राजस्व निरीक्षक मंडल 18 पांडादाह तहसील खैरागढ़ जिला राजनांदगांव के खसरा न. 68/3, रकबा 1.098 हेक्टेयर कृषि भूमि का बी-1, खसरा एंव नक्शा तथा ऋण पुस्तिका दिखा कर अपने स्वामित्व के भूमि को मुझे 6,80,000 रूपये में बिक्री किया था।

जिसे दिनांक 28.10.2020 को चेतन वर्मा के कहने पर उसके बताये अनुसार भिन्न-भिन्न खाता में क्रमश: 2,70,000 रूपये आरटीजीएस के माध्यम से 40,000 रूपये एवं 3,50,000 रूपये एक्सीस बैंक चेक के माध्यम से तथा नगदी 20,000 रूपये कुल 6,80,000 रूपये बिक्री रकम स्थानांतरित कर एवं नगदी देकर उक्त जमीन का रजिस्ट्री कराया था। जब मैं क्रय की गयी जमीन पर अपना कब्जा लेने गया तो पता चला कि उक्त खसरा न. की कोई जमीन मौके पर नहीं है। चेतन वर्मा एंव तत्कालिन पटवारी द्वारा मिली भगत कर जमीन के फर्जी दस्तावेज तैयार कर मेरे साथ धोखाधडी किये है। रिपोर्ट करता हूं कार्यवाही चाहता हूं।

न्यूज क्रेडिट: ठेलकाडीह थाने में दर्ज ऑनलाइन एफआइआर

Leave a Comment

ताजा खबर