पत्रकारों पर दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग, जर्नलिस्ट यूनियन ने सौंपा ज्ञापन

एसडीएम निष्ठा तिवारी पांडे को ज्ञापन सौंपते पत्रकार
एसडीएम निष्ठा तिवारी पांडे को ज्ञापन सौंपते पत्रकार

सीजी क्रांति/खैरागढ़. अवैध रेत निकासी के मामले में कवरेज के लिए गए पत्रकारों और रेत खनन में संलिप्त लोगों के बीच झूमाझटकी और मारपीट मामले में डोंगरगांव थाने में पत्रकारों पर दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग को लेकर जर्नलिस्ट यूनियन खैरागढ़ ने राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम निष्ठा तिवारी पांडे को ज्ञापन सौंपा.

छत्तीसगढ़ जर्नलिस्ट यूनियन, खैरागढ़ के संरक्षकद्वय उमेश कोठले, अभिषेक सत्यभामा सिंह, ब्लाक अध्यक्ष संजू देवांगन व वरिष्ठ सदस्य नीलेश यादव ने बताया कि विगत दिनों डोंगरगांव थाना क्षेत्रांतर्गत जमासरार में अवैध रूप से रेत खनन कर रहे रेत माफियाओं के द्वारा कवरेज के लिये गये पत्रकार शशिकांत देवांगन, सुश्री कामिनी साहू, राकेशराजपूत और उनकी टीम पर जानलेवा हमला किया गया था और उनसे कैमरा छीनकर उनकी कार को भी क्षति पहुंचाई थी.

बाद में रेत माफियाओं द्वारा डोंगरगांव पुलिस पर राजनीतिक दबाव डलवाकर पत्रकार साथियों के खिलाफ डोंगरगांव थाने में झूठी एफआईआर दर्ज कराया गया है. उन्होंने राज्यपाल और मुख्यमंत्री से पत्रकारों पर हुये एफआईआर को रद्द करने की मांग की है ताकि पत्रकार स्वतंत्र, निष्पक्ष और ईमानदारी से पत्रकारिता कर सके.

Leave a Comment

ताजा खबर