NEET की तैयारी कर रहे युवक ने लगाई फांसी, फंदे में झूलने से पहले प्रभात ने बनाया वीडियो, बोला- इस घटिया समाज और घटिया शिक्षा प्रणाली के साथ काम कर रहा हूं

file photo


सीजी क्रांति/दुर्ग। भिलाई में नीट की तैयारी कर रहे युवक ने खुदकुशी कर ली। युवक ने दो बार नीट का एग्जाम दिया लेकिन फेल हो गया। इस बार उसने नीट परीक्षा के एक दिन पहले फंदे पर झुल गया। इसके पहले उसने वीडियो भी बनाया, जिससे यह स्पष्ट हो रहा है कि वो पढ़ाई को लेेकर डिप्रेशन में था। उसकी रूचि मेडिकल की पढ़ाई में नहीं थी। लेकिन माता-पिता के अरमानों को पूरा करने के लिए वह दबाव में नीट क्लिीयर करने की तैयार में जुटा था लेकिन उसे अहसास था कि वह ऐसा नहीं कर पाएगा। लिहाजा खुद को ही खत्म कर लिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक प्रभात कुमार निषाद 21 वर्ष बेमेतरा के बेरला का निवासी थी। वह डॉक्टर बनने के लिए भिलाई में रहकर नीट की तैयारी कर रहा था। प्रभात के पिता शिक्षक हैं। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर प्रकरण को विवेचना में लिया है। शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया है।

जांच में यह बात सामने आई है कि प्रभात लंबे समय डिप्रेशन में था। उसने मरने के पहले कुछ वीडियो भी बनाया था, जिसमें उसने खुद को लेकर हताशा भरी बात कही है। पुलिस को मिली वीडियो में प्रभात कह रहा है कि पहले वीडियों में प्रभात ने कहा, हेलो दोस्तों, मैं प्रभात इस घटिया समाज और घटिया शिक्षा प्रणाली के साथ काम कर रहा हूं। मैं पूरी तरह से फेल हो चुका हूं। मैं ऐसा इंसान हूं जो अपने मिजाज के साथ खुलकर रहना पसंद करता हूं और रहता भी था। अब मैं बहुत डरा हुआ हूं कि मैं आगे क्या करूंगा क्या नहीं करूंगा। ज्यादा कुछ है नहीं मेरे पास बोलने को।

दूसरे वीडियो में उसने कहा, मुझे पिछले एक महीने से वोमेटिंग हो रही थी, उसमें ब्लड आ रहा था। पता नहीं ये क्या था। कभी भी वोमेटिंग हो जाती थी कभी उसमें ब्लड आता था कभी नहीं आता था। मैं बहुत सारी चीजों के साथ गुजर रहा हूं। सबका करियर एक जैसा नहीं बनता। जिसका बन जाता है वो बहुत खुश रहता है। जिसका नहीं बनता वो क्या करता होगा। सभी की उम्मीदें होती हैं, कि ये करेगा वो करेगा। पेरेंट्स को लगता है प्रेशर नहीं है एग्जाम ही तो है। पर ऐसा नहीं है। बहुत सारी चीजें हमारे माइंड में भी रहती हैं। मुझे नहीं पता मैं क्या क्या बोल रहा हूं। कुछ गलत भी बोल रहा हूं नहीं पता। उसके बाद उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

डिप्रेशन में था युवक, पैरेंटस को नहीं बता पा रहा था मन की बात
नेवई थाना प्रभारी ममता अली शर्मा के अनुसार प्रभात लंबे से डिप्रेशन में था। उसे लगता था कि वह नीट क्लिीयर नहीं कर पाएगा। पूछताछ में प्रभात के दोस्तों ने बताया कि कि, प्रभात एग्जाम को लेकर काफी प्रेशर में था। वो एक महीने से कह रहा था वो एग्जाम नहीं दे पाएगा। वो एग्जाम से एक दिन पहले खुदकुशी कर लेगा। आखिरकार परीक्षा से एक दिन पहले उसने खुदकुशी कर ली।

Leave a Comment

ताजा खबर