नाली निर्माण जैसे छोटे कार्य के लिए ग्रामीणों की कलेक्टर से गुहार, बारिश में पानी के उफान से हाहाकार की स्थिति, इसकी वजह, लचर व्यवस्था और राजनीतिक शून्यता ?

सीजी क्रांति न्यूज/गंडई। गुरूवार को बड़ी संख्या में रैमड़वा गांव के लोग नाली निर्माण की मांग लेकर कलेक्टर गोपाल वर्मा के पास पहुंचे। ग्रामीणों ने फरियाद किया कि उनके गांव में नाली निर्माण नहीं होने के कारण बारिश में विकट समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। तेज बारिश होने पर पानी का ऐसा उफान आता है कि उनके घर तक डूब जाते हैं। उन्हें घरों में कैद होकर रहना पड़ता है। यह समस्या जितनी बड़ी है, उसका समाधान उतना ही छोटा है। लेकिन प्रशासनिक ताना-बना व राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी के कारण लोगों को अनावश्यक कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।


यह पूरा मामला है जिला केसीजी के छुईखदान ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम रैमड़वा का। यहां लोगों की इतनी सी मांग है कि गांव में नहर से गंगा इमली पेड़ तक नाली निर्माण करा दिया जाए। जिसकी लागत मुश्किल 6 लाख के करीब आएगी। सरपंच टीकम राम साहू का कहना है कि उन्होंने जनपद पंचायत में नाली निर्माण के लिए प्रस्ताव दे दिया है। श्री साहू की शिकायत है कि उनकी फाइल कलेक्टोरेट में अटकी हुई। उस पर कार्यवाही नहीं हो रही है। कलेक्टर गोपाल वर्मा ने ग्रामीणों की बात को ध्यानपूर्वक सुनकर जल्द ही इस दिशा में समाधान का आश्वासन दिया है।

वहीं इस विषय पर छुईखदान जनपद पंचायत सीईओ जेएस ठाकुर ने बताया कि जनपद की ओर से फाइल जिला पंचायत को भेज दिया गया है। अब वह नाली किस मद से बनाई जाएगी, इस पर निर्णय लेने का अधिकार कलेक्टर के पास है। जिला पंचायत से इस संबंध में जो भी निर्देश आएगा उस पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Comment

ताजा खबर