देश में आचार संहिता लागू, लोकसभा के 543 सीटों के लिए 7 चरणों में होंगे मतदान, 4 जून को परिणाम

file photo


सीजी क्रांति न्यूज/नई दिल्ली-डेस्क। भारत निर्वाचन आयोग ने शनिवार को लोकसभा चुनाव 2024 के तारीखों का ऐलान कर दिया है। आयोग के मुताबिक 543 सीटों के लिए 19 अप्रैल से एक जून के बीच सात चरणों में होंगे और मतगणना चार जून को होगी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 18वीं लोकसभा के गठन के लिए चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही देश में आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। इसके साथ ही सरकार ऐसा कोई नीतिगत फैसला नहीं कर सकेगी, जो मतदाताओं के फैसले को प्रभावित कर सके।

कुमार ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2024 में कुल 97 करोड़ पंजीकृत मतदाता हैं। इनमें से 49.7 करोड़ पुरुष, 47.1 करोड़ महिलाएं और 48 हजार ट्रांसजेंडर शामिल हैं। साल 2019 के चुनाव में मतदाताओं की कुल संख्या 90 करोड़ थी। उन्होंने बताया कि ऐसे मतदाताओं की संख्या 1.8 करोड़ है, जो पहली बार मतदान करेंगे और मतदाता सूची में 85 साल से अधिक उम्र के 82 लाख और सौ साल से अधिक उम्र के 2.18 लाख मतदाता शामिल हैं।

कुमार ने बताया कि देशभर में मतदाता लिंगानुपात 948 है और 12 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में पुरुष मतदाताओं की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या अधिक है। उन्होंने कहा कि देश में 10.5 लाख से अधिक मतदान केंद्र होंगे और 55 लाख इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल होगा।

22 राज्यों और केंद्रशासित राज्य अरुणाचल प्रदेश, अंडमान-निकोबार द्वीप, आंध्र प्रदेश, चंडीगढ़, दादरा नगर हवेली, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, केरल, लक्षद्वीप, लद्दाख, मिजोरम, मेघालय, नागालैंड, पुडुचेरी, सिक्किम, तमिलनाडु, पंजाब, तेलंगाना और उत्तराखंड शामिल हैं।

पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल को होगा, जिसमें 21 राज्यों की 102 सीटों पर वोट डाले जाएंगे, जबकि 26 अप्रैल को दूसरे चरण के अंतर्गत 13 राज्यों की 89 सीटों पर मतदान होगा. इसी तरह से 7 मई को तीसरे चरण में 12 राज्यों की 94 सीटों पर मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. 13 मई को चौथे चरण में 10 राज्यों की 96 सीटों पर, 20 मई को पांचवें चरण में 8 राज्यों की 49 सीटों पर, 25 मई को छठे चरण में 7 राज्यों की 57 सीटों पर, जबकि 1 जून को सातवें और आखिरी चरण में 8 राज्यों की 57 सीटों पर वोट डाले जाएंगे।

100 साल से ऊपर के 2.18 लाख मतदाता, जबकि 88.5 लाख दिव्यांग वोटर्स
सीईसी राजीव कुमार ने बताया कि इस बार के लोकसभा चुनाव में 100 साल से ऊपर के 2.18 लाख मतदाता, जबकि 88.5 लाख दिव्यांग मतदाता हैं. इसी तरह से 85 साल से ऊपर के कुल 82 लाख वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. लोकसभा चुनावों के कुल मतदाताओं में 49.7 करोड़ पुरुष वोटर्स और 47.15 करोड़ महिला वोटर्स हैं।

देश में करीब 21.5 करोड़ युवा मतदाता और 1.82 करोड़ नए वोटर्स
सीईसी राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 55 लाख इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (म्टड) का इस्तेमाल लोकसभा चुनावों में किया जाएगा. उन्होंने यह भी बताया कि देश में करीब 21.5 करोड़ युवा मतदाता हैं, जबकि 1.82 करोड़ नए मतदाता हैं।

10.5 लाख मतदान केंद्रों पर 97 करोड़ वोटर करेंगे मतदान
सीईसी राजीव कुमार ने बताया कि पूरे देश में करीब 97 करोड़ वोटर मतदान करेंगे, जो साढ़े दस लाख मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे और इसके लिए 1.5 करोड़ पोलिंग अफसर तैनात किए जाएंगे।

Leave a Comment

ताजा खबर