दुर्ग/ गंडई के डॉक्टर ने की 90 साल के बुजुर्ग महिला की जंघन्य हत्या, प्रेमिका ने दुर्ग में शव को जलाया, छुईखदान का युवक भी शामिल, पढ़ें पूरी खबर

0 खुद के मौत की झूठी कहानी रचने दिया वारदात को अंजाम

0 2 बच्चों की मां है आरोपी, प्रेमी के साथ रहने रचा षडयंत्र

सीजी क्रांति न्यूज/दुर्ग। जिला केसीजी के गंडई में क्लिीनिक के तथाकथित डॉक्टर व न्यू लक्ष्मी मेडिकल संचालक उमेश साहू ने टिकरी पारा निवासी 90 वर्षीय मरीज की हत्या कर दी। हत्या के बाद उसे फ्रीज में रख दिया। उसके बाद छुईखदान निवासी अपने दोस्त की मदद से शव को उसी रात दुर्ग के गिरधारी नगर ले गया। जहां उमेश की प्रेमिका सुप्रिया ने बुजुर्ग महिला को जलाकर राख कर दिया।

इसकी मास्टरमाइंड सुप्रिया ने यह सब अपने प्रेमी उमेश को पाने के लिए किया। सुप्रिया ने खुद की मौत की झूठी कहानी रचने के लिए बुजुर्ग महिला को जलाकर मार दिया। उसने प्लान बनाया था कि उसके घर में लाश मिलने के बाद लोगों को लगेगा कि सुप्रिया की मौत हो गई। उसके बाद वह उमेश के साथ नए सिरे से नई जिंदगी जी सकेगी। पर ऐसा नहीं हो पाया। पुलिस ने इस घटना का पर्दाफाश कर दिया।

इस मामले में दुर्ग पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें उमेश साहू पिता स्व. रामूलाल साहू टिकरी पारा, प्रदीप जंघेल पिता बलदाउ जंघेल खैरनवापारा छुईखदान और दुर्ग गिरधारी नगर निवासी सुप्रिया यादव पति भूपेंद्र यादव शामिल है।

मोहन नगर थाना प्रभारी विजय कुमार यादव के अनुसार 16 और 17 अगस्त की दरम्यानी रात 112 पर फोन आया था कि दुर्ग के गिरधारी नगर वार्ड 9 में भूपेंद्र यादव के घर के बाहर बने स्टोर रूम में किसी का शव जल रहा है। सूचना मिलते ही 112 और मोहन नगर पुलिस की टीम रात 1ः30 बजे मौके पर पहुंची। पुलिस ने देखा कि बाथरुम में एक शव पड़ा है और वो पूरी तरह से जल जल चुका था। शव की पहचान करना मुश्किल था।

इसके बाद पुलिस ने मामले की गुत्थी सुलझाने जांच शुरू की। पुलिस ने जब भूपेंद्र यादव के घर की तलाशी ली तो पता चला कि उसकी पत्नी सुप्रिया यादव रात में तो अपने पति और बच्चों के साथ सोई थी। लेकिन घटना के समय वहां नहीं थी। पुलिस को पहले शक हुआ कि लाश सुप्रिया यादव की है। लेकिन ऐसा नहीं था।

पुलिस के जांच के दौरान ही पता चला कि सुप्रिया राजनांदगांव में है। सुप्रिया ने खुद अपनी बहन को बताया कि वो जिंदा है और राजनांदगांव में है। इसके बाद उसने गंडई पुलिस को फोन किया और पुलिस ने उसे थाने ले जाकर पूछताछ शुरू की। इसके बाद सच्चाई से पर्दा उठा।

सुप्रिया यादव का गंडई निवासी उमेश साहू से अवैध संबंध था। जो उसे बचपन से जानता था। वो उससे हमेशा फोन पर बात भी करती थी। उसी के साथ हमेशा के लिए रहने के लिए उसने अपनी मौत की साजिश रची थी।

गंडई में क्लिीनिक व न्यू लक्ष्मी मेडिकल संचालक उमेश साहू के पास टिकरी पारा निवासी 90 वर्षीय सूरजा बाई मरकाम ईलाज के लिए आती थी। उमेश ने बुजुर्ग महिला हत्या कर दी। हत्या के बाद उसे फ्रीज में रख दिया। उसके बाद छुईखदान निवासी अपने दोस्त की मदद से शव को दुर्ग के गिरधारी नगर ले गया। जहां उमेश की प्रेमिका ने बुजुर्ग महिला को जलाकर राख कर दिया।

सुप्रिया ने साजिश रखी बुजुर्ग महिला को जलाकर मार देने के बाद परिवार वालों को लगेगा की उसकी मौत हो गई है। घंटना को अंजाम देने के बाद सुप्रिया उमेश और उसके दोस्त के साथ खैरागढ़ होते हुए वापस गंडई आ गई। गंडई में उमेश के मेडिकल स्टोर्स में रात गुजारी। सुबह सुप्रिया का मन बदल गया। उसने उमेश से कहा कि उसे अपने बच्चों की याद आ रही है। अब यहां पर उन दोनों ने फिर प्लान बनाया गया कि उमेश सुप्रिया को खैरागढ़ में छोड़ दिया।

यहां सुप्रिया एक जगह पर बेहोश होकर गिरने का नाटक की। 112 को बुलाया गया। ताकि ऐसा लगे कि सुप्रिया घर वालों से नाराज होकर दुर्ग आई और यहां चक्कर खाकर गिर गई। इस तरह से पूरा सुनियोजित तरीके से लव, सेक्स, मर्डर, परिवार के इर्दगिर्द घटी इस कहानी से पुलिस सीसीटीवी के जरिए पर्दा उठाया।

दरअसल घटना के दिन दुर्ग स्थित सुप्रिया के घर के बाहर देर रात कार और उसमें शव निकालते हुए तीन लोग देखें गए। फिर घटना के दिन सुप्रिया का घर से गायब हो जाने की बात सामने आने के बाद पुलिस का शक सुप्रिया पर ठहर गया। इसके बाद जब सुप्रिया से पूछताछ की गई तो उसने अपना गुनाह कबुल कर अपने साजिश का खुद ही पर्दाफाश कर दिया।

Leave a Comment

ताजा खबर