टिकरापारा पुल डूबा, CMकी घोषणा रद्दी की टोकरी में ? बजट में प्रस्ताव पास पर वित्त विभाग में अटका, अब जनता नोटा देकर सिखएगी सबक!


सीजी क्रांति न्यूज/खैरागढ़। खैरागढ़ नगर पालिका सीमा स्थित वार्ड क्र. 19 का टिकरापारा पुल शनिवार को सुबह बारिश में डूब गया है। करीब घंटे भर पुल के उपर से पानी बहा। दोपहर तक पानी नीचे उतरा लेकिन पुल के समानांतर पानी बहता रहा है और लोग सावधानी पूर्वक पुल पार करते दिखे। धोखे से या लापरवाही से भी किसी की गाड़ी यहां फिसली, और उसे तैरना नहीं आता तो उसकी मौत की आशंका को नकारा नहीं जा सकता है। शासन-प्रशासन शायद इसी का इंतजार कर रहा है!

बता दें कि यहां पुल निर्माण के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गंडई के सभा में घोषणा की थी। करीब साल भर गुजर गया लेकिन प्रशासन ने मुख्यमंत्री की घोषणा को रद्दी की टोकरी में डाल दिया है। यही वजह है कि पुल निर्माण अब तक शुरू नहीं हो पाया है।

पुल निर्माण बजट में तो स्वीकृत हो गया है लेकिन वित्त विभाग से अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है। यही नहीं इस मामले को क्षेत्र की विधायक यशोदा वर्मा ने जिम्मेदारी व गंभीरता पूर्वक नहीं उठाया है। इन्ही वजहों से नाराज गोकुल नगर वार्डवासियों ने अगले विधानसभा चुनाव में नोटा में वोट देने का आह्वान किया है। ताकि राजनीतिक दलों को उनकी निष्क्रियता का अहसास करा सके। राज्य निर्माण के 22 साल गुजर जाने के बाद भी यहां पुल नहीं बनना दुभाग्यपूर्ण स्थिति को दर्शाता है।

पुल निर्माण संघर्ष समिति के संयोजक राजू यदु ने बताया कि नगर पालिका सीमा क्षेत्र में रहने के बाद भी बारिश के दिनों में गोकुल नगर शहर मुख्यालय से कट जाता है। यह शासन प्रशासन की बड़ी विफलता को दर्शाता है। बहरहाल पुल निर्माण के लिए लगातार अभियान चलाने के बाद अब वार्डवासी भी मौन साध लिए है। संघर्ष समिति लगातार लोगों से संपर्क कर अगले विधानसभा में नोटा में बटन दबाने जागरूकता कार्यक्रम चला रहे हैं। इसके बाद भी शासन-प्रशासन नींद में है।

Leave a Comment

ताजा खबर