जिला केसीजी में 51 उपार्जन केंद्रों में 40 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य, 68 हजार 123 किसान बेचेंगे धान,4,899 किसान बढ़े

file photo

सीजी क्रांति न्यूज/खैरागढ़। नवगठित जिला केसीजी में 68 लाख 123 किसान कल 1 नवंबर से धान बेचना शुरू करेंगे। पिछले साल के मुकाबले में 4 हजार 899 किसान बढ़े हैं। कल से 51 धान उपार्जन केंद्र किसानों से गुलजार होंगे। कांग्रेस सरकार के घोषणा के अनुरूप किसानों से 20 क्विटल प्रति एकड़ धान की खरीदी की जाएगी। 35 उपार्जन केन्द्रों का 11हजार क्विंटल का 232 टोकन समिति एवं टोकन एप्प द्वारा जारी किया गया। खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 खैरागढ़ छुईखदान गंडई जिले में कुल 39 समिति 51 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी की जाएगी।


खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में जिले में 6 नवीन उपार्जन केन्द्र अमलीडीह, काशीटोला, मोहगांव, सुखरी, ठेलकाडीह एवं महरूमकला खोला गया। जिले के समस्त 51 उपार्जन केन्द्रों में नया पुराना बारदाना भेजा जा चूका है। आज दिनांक की स्थिति में 2090 गठान नया बारदाना भेजा गया है, जिसमे से 1970 गठान नया बारदाना उपार्जन केन्द्रों में प्राप्त हो गया है एव 3172 गठान पुराना बारदाना भेजा गया है, जिसमे से 1363 गठान पुराना बारदाना उपार्जन केन्द्रों में प्राप्त हो गया।

सभी धान उपार्जन केन्द्रों का व्यवस्था निरीक्षण किया गया। इसके लिए नोडल नियुक्त किया गया है। कलेक्टर गोपाल वर्मा ने धान खरीदी के संबंध में सभाकक्ष में उपार्जन स्तरीय नोडल अधिकारियों की मंगलवार को बैठक ली। बैठक में यह तमाम जानकारी अधिकारियों ने दी।

कलेक्टर गोपाल वर्मा ने बैठक में धान खरीदी से संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि किसानों को टोकन, बारदाना और धान बिक्री में कोई असुविधा न होने पाए। उपार्जन केंद्रों में छाया-पानी की व्यवस्था करने कहा। कलेक्टर ने अधिकारियों से सुगम धान खरीदी के लिए सतर्क रहकर सौपे गये दायित्वों का पालन करने की बात कही। ताकि किसी प्रकार की विवाद की स्थिति उत्पन्न ना हो। उन्होंने आदर्श आचरण संहिता का पालन करने के निर्देश दिए।

जिले में इस वर्ष 12 लाख क्विंटल अधिक होगी धान की खरीदी

छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ एवं छत्तीसगढ़ स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पाेरेशन लिमिटेड द्वारा धान एवं मक्का का उपार्जन किया जाएगा। खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में धान की खरीदी विगत खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 में संचालित और नवीन बनाए गए खरीदी केन्द्रों में की जाएगी।

जिले में खरीफ सीजन 2023-24 में जिले में अब तक 158529 किसानों ने धान विक्रय हेतु सहकारी समितियों में पंजीयन कराया हैं। पिछले साल 1 लाख 53 हजार किसानों ने धान विक्रय हेतु सहकारी समितियों में पंजीयन कराया था। जिनका रकबा 1 लाख 83 हजार 242 हेक्टेयर था। जो बड़ कर इस साल 1 लाख 85 हजार 928 हेक्टेयर हो गया है।

जो किसान अभी तक पंजीयन नहीं कराए है वह आज 31 अक्टूबर तक करा सकते है। इस साल धान खरीदी का अनुमानित लक्ष्य 80 लाख मैट्रिक टन है। पिछले साल अनुमानित लक्ष्य 68 लाख मैट्रिक टन था। 5 क्विंटल प्रति एकड़ में वृद्धि के साथ 20 क्विंटल प्रति एकड़ खरीदा जायेगा। इस प्रकार जिले में इस वर्ष 12 लाख क्विंटल अधिक धान की खरीदी का लक्ष्य रखा गया है।

बैठक में अपर कलेक्टर डीएस राजपूत, खाद्य अधिकारी भुनेश्वर चेलक, सहायक पंजीयक सहकारी समिति रघुराज सिंह, सीसीबी नोडल आलोक शर्मा, जिला प्रबंधक नान नीलिमा ठक्कर, मंडी सचिव पवन मेश्राम, जिला विपणन अधिकारी चंद्रपाल दीवान, खाद्य निरीक्षक मनीष सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

ताजा खबर