PM मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट: गुजरात के कांग्रेस MLA जिग्नेश मेवाणी गिरफ्तार, समर्थक सड़क पर उतरे…

विधायक जिग्नेश मेवानी को असम पुलिस ने किया गिरफ्तार

अहमदाबाद। गुजरात के विधायक व दलित नेता जिग्नेश मेवाणी (MLA Jignesh Mevani) को पालनपुर सर्किट हाउस (Palanpur Circuit House) से बुधवार रात तकरीबन 11.30 बजे असम पुलिस (Assam Police) ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार करके असम ले जाया गया है। मीडिया खबरों के मुताबिक पीएम मोदी के खिलाफ एक ट्वीट के चलते असम पुलिस (Assam Police) ने गिरफ्तार किया है।

जिग्नेश मेवाणी (MLA Jignesh Mevani) ने ट्वीट में दावा किया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) जो ‘गोडसे को भगवान मानते हैं, वह गुजरात में हुई सांप्रदायिक झड़पों के लिए शांति और सद्भाव की अपील करें.’ बता दें कि जिग्नेश ने सितंबर 2021 में कांग्रेस को समर्थन दे दिया था.

जिग्नेश मेवाणी (MLA Jignesh Mevani) राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच के राष्ट्रीय संयोजक हैं और निर्दलीय विधायक हैं. उन्होंने सितंबर 2021 में कांग्रेस का समर्थन किया था. जिग्नेश मेवाणी पर धारा 120बी (आपराधिक साजिश रचने), धारा 153ए (दो समुदायों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने), 295ए, धारा 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान करने) और आरटीआई की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

जानें कौन है जिग्नेश मेवाणी…

जिग्नेश मेवानी गुजरात विधानसभा (Gujarat Assembly) के सदस्‍य हैं और गुजरात के वडगाम से विधायक हैं. वह एक वकील, कार्यकर्ता और पूर्व पत्रकार हैं. उन्‍होंने विधानसभा का चुनाव निर्दलीय जीतने के बाद कांग्रेस को समर्थन दिया था. उन्होंने राजनीतिक कार्यकर्ता और जेएनयू के पूर्व छात्र संघ नेता कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) के साथ कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी, जहां कन्‍हैया कुमार कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए थे, वहीं मेवानी ने गांधी को अपना समर्थन दिया था.

मेवाणी पिछले साल सितंबर में कुमार के साथ कांग्रेस में शामिल हुए थे। बतौर एक दलित नेता मेवाणी (Jignesh Mevani पहली बार हार्दिक पटेल (Hardik Patel) और अल्पेश ठाकोर (Alpesh Thakor) के साथ 2017 के विधानसभा चुनावों के दौरान गुजरात में भाजपा के प्रभुत्व को चुनौती देने वाले युवा चेहरे के रूप में उभरे थे।

Leave a Comment

ताजा खबर