छात्र राजनीति से शुरूआत, 15 साल में ब्लाक से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष तक का सफर, पढ़ें छत्तीसगढ़ के सबसे युवा प्रदेशाध्यक्ष दीपक बैज की कहानी


सीजी क्रांति न्यूज/रायपुर। 14 जुलाई 1981 को बस्तर के गढिया में जन्में दीपक बैज ने राजनीतिक यात्रा की शुरुआत छात्र जीवन से की थी। एक दिन पहले बुधवार को ही वे छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नए प्रदेशाध्यक्ष बने। प्रदेश में वे अब तक के सबसे युवा अध्यक्ष हैं। दीपक बैज ने जमीनी स्तर पर काम कर अपनी प्रतिभा और लोकप्रियता का लोहा मनवाया।

प्रियंका गांधी की अगुवानी करते दीपक बैज

शिक्षित, युवा, प्रखर वक्ता, आदिवासी, बस्तर का रहवासी होना, सीधे दिल्ली और राहुल गांधी तक पहुंच होना, दो बार विधायक, मौजूदा सांसद और अब प्रदेश कांग्रेस की कमान हाथ में आ गया। ऐसी तमाम खूबियां और कामयाबी यह साबित करने में काफी है कि दीपक बैज छत्तीसगढ़ के स्थापित नेता बन चुके हैं।

धर्मपत्नी के साथ दीपक बैज

बता दें कि साल 2022 में दीपक बैज को आदिवासी कांग्रेस का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया था। साल 2009 से 2011 तक दीपक बैज लोहंडीगुड़ा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रहे। उसके बाद साल 2012 से 2014 तक पूर्णकालिक ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रहे। वह चित्रकूट विधानसभा से दो बार विधायक भी रहे और साल 2013 और साल 2018 के विधानसभा चुनाव जीते।

क्रिकेट के मैदान में दीपक बैज

दीपक बैज छत्तीसगढ़ की बस्तर संसदीय सीट से सांसद हैं। 2019 के आम चुनाव में उन्होंने बड़े अंतर से यह सीट जीती थी। उससे पहले वे चित्रकोट विधानसभा सीट से विधायक थे। सांसद बनने के बाद उन्होंने विधानसभा से इस्तीफा दिया था। इस सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार राजमन बेंजाम ने जीत दर्ज की थी। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में 11 में से केवल दो सांसद कांग्रेस के चुने गए थे और उनमें से एक दीपक बैज भी थे।

Leave a Comment

ताजा खबर