छत्तीसगढ़ के संविदाकर्मी नाराज, 24 को निकालेंगे सरकार के वादों की बारात, हजारों की संख्या में पहुंचेंगे कर्मचारी

सीजी क्रांति न्यूज/रायपुर। 2018 के विधानसभा चुनाव में किए गए वादों को पूरा नहीं करने से नाराज छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ विरोध स्वरूप सरकार के वादों की बारात निकाल कर सरकार को उसका वादा याद दिलाएगी। 24 सिंतबर को प्रदेशभर से हजारों की संख्या में संविदा कर्मचारी नया रायपुर स्थित ग्राम तुता के धरना स्थल पहुंचेंगे और वादों की बारात में शामिल होंगे।

2018 के चुनाव पूर्व कांग्रेस ने जन घोषणा पत्र में संविदा कर्मचारियों से नियमितीकरण और किसी की भी छंटनी नहीं की जाने का वादा किया था। विगत 5 सालों में कांग्रेस नेताओं ने तमाम मीडिया और संचार माध्यमों में इन कर्मचारियों के भविष्य को लेकर तरह तरह वादे और आश्वासन बस दिए।

छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ के बैनर तले निकलने वाले इस बारात को भव्य तैयारी की गई है। शनिवार को हजारों संविदा कर्मचारी तूता धरना स्थल में बरात की तैयारी करने पहुंचे। कर्मचारियों ने जिस प्रकार शादी में बारात के पूर्व मंडप छादन, तेल माटी पर्रा रस्मों रिवाज किया जाता है, ठीक उसी तर्ज पर तैयारी की जा रही है।

महासंघ के प्रांताध्यक्ष कौशलेष तिवारी ने बताया कि सरकार के 5 साल लगभग पूरे हो रहे है किंतु सरकार ने अपना जन घोषणा पत्र में संविदा नियमितिकरण वादा पूरा नहीं किया है। नियमितिकरण, विगत माह स्वयं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी संविदा कर्मचारियों को 27 प्रतिशत की वेतन वृद्धि की घोषणा की। किंतु प्रदेश में आलम यह है कि मुश्किल से 5000 कर्मचारियों को ही उसका लाभ मिल पा रहा है। इन सभी कारणों से नाराज संविदा कर्मचारी सरकार के वादों की बारात निकाल रहे हैं।

वादों की बारात में पूरे बाराती गुलाबी रंग के पगड़ी सूट बूट एवं महिलाएं पीले रंग की साड़ी से सज-धज कर इस वादों की बारात में शामिल होंगी और सरकार ने जो संविदा कर्मचारियों के साथ वादा किया है, नियमितीकरण, छटनी रोकने का 27 वेतन वृद्धि, हड़ताल के दौरान कृत कार्रवाई शून्य करने की सभी वादों को लेकर बाजे गाजे के साथ बारात निकल जाएगी विशेष रूप से यह एक अनोखी बारात होगी जो कि छत्तीसगढ़ में सरकार के किये गए घोषणा को याद दिलाने के लिए वादों की बारात नियमितीकरण संग धोखा रचा जा रहा है।

आज तूता धरना स्थल पर हजारों की संख्या में एवं विभिन्न जिलों के जिला संयोजक पदाधिकारी शामिल हुए जिसमें मुख्य रूप से कौशलेश तिवारी, प्रदेश अध्यक्ष, श्रीकांत लास्कर प्रदेश सचिव तारकेश्वर साहू मुंगेली अजय क्षत्रिय श्वेता सोनी दंतेवाड़ा, टेकलाल पाटले, गौरेला पेंड्रा मरवाही, चंद्रहास श्रीवास गरियाबंद, चंद्रकांत जायसवाल रायगढ़ शेख मुस्तकीम रायपुर डॉ. अमित मेरी जांजगीर चांपा डॉ. रवि दीक्षित भाटापारा, अरूणा टोप्पो, अम्बिकापुर, रितेश गंगबेर बालोद, दिव्या दुर्ग सहिंत हजारों की संख्या में वादों की बारात की तैयारी की गई। 45 हजार संविदा कर्मचारियों के साथ इस बार विशेष रूप से सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी भी शामिल होंगे।

Leave a Comment

ताजा खबर