गंडई की नगरीय सरकार भी धड़ाम…अविश्वास प्रस्ताव ने फिर छीनी अध्यक्ष की कुर्सी, प्रस्ताव के खिलाफ 4 तो, पक्ष में पड़े 11 मत!

अविश्वास प्रस्ताव पर फैसले के लिए को लेकर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंध
अविश्वास प्रस्ताव पर फैसले के लिए को लेकर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंध

सीजी क्रांति/खैरागढ़। गंडई की नगरीय सत्ता में काबिज भाजपा की समर्थन वाली सरकार गिर गई है। पार्षदों द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर मुहर लग चुकी है। अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ 11 तो, पक्ष में 4 वोट पड़े हैं। इस तरह लंबी खींचतान के बाद श्यामपाल ताम्रकार की नेतृत्व वाली नगरीय सरकार गिर गई।

खास बात तो यह है कि नगरीय सरकार गिराने में 4 भाजपा पार्षद भी शामिल रहे। क्योंकि कांग्रेस के पास महज 7 ही पार्षद है। ऐसे में लाजमी है कि भाजपा पार्षदों ने बगावत करते हुए अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन दिया है।

www.cgkranti.com

अभी नगर पंचायत में कुल 15 पार्षद हैं, जिनमें से भाजपा के 7 और कांग्रेस के 7 पार्षद हैं। जबकि श्यामपाल ताम्रकार ही एक अकेला निर्दलीय पार्षद है, जिन्हें भाजपा ने अध्यक्ष की कुर्सी देकर अपने पाले में ला लिया था। लेकिन कांग्रेस के साथ भाजपा पार्षदों के बगावती तेवर के बाद कुर्सी छीन गई है।

इससे पहले भाजपा व विपक्षी कांग्रेस के पार्षदों ने मिलकर अध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोला था। अध्यक्ष श्यामपाल के खिलाफ 11 पार्षद लामबंद होकर पद से हटाने के लिए कलेक्टर को अविश्वास प्रस्ताव सौंपे थे। खास बात यह है कि अध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले पार्षदों में भाजपा पार्षद भी थे।

Leave a Comment

ताजा खबर