खैरागढ़ : विश्वविद्यालय में सेमेस्टर एग्जाम के लिए टाइम-टेबल जारी, व्हाट्सप्प और गूगल ड्राइव से वीडियो भेजेंगे स्टूडेंट्स

इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़

सीजी क्रांति/खैरागढ़। पूरे एशिया में अपने तरह के अनूठे शैक्षणिक संस्थान इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ में सेमेस्टर एग्जाम के टाइम टेबल घोषित कर दिए गए हैं। स्टूडेंट्स ने भी ऑनलाइन एग्जाम की तैयारियां शुरू कर दी है। लेकिन, अन्य विश्वविद्यालयों की तुलना में इस विश्वविद्यालय के अधिकाँश पाठ्यक्रम प्रदर्शनकारी कलाओं पर आधारित होने के कारण प्रायोगिक परीक्षा की काफी अहम भूमिका होती है। इधर Covid-19 के प्रोटोकॉल के कारण कैंपस में प्रायोगिक परीक्षा संपन्न कराना सम्भव नहीं है। ऐसे में, विश्वविद्यालय प्रशासन ने तकनीक का इस्तेमाल करते हुए प्रायोगिक परीक्षा के लिए एक तरीका अपनाया है।

खैरागढ़ स्थित विश्वविख्यात इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय ने पिछले दिनों स्नातकोत्तर, स्नातक और डिप्लोमा के सेमेस्टर परीक्षाओं के लिए टाइम-टेबल जारी कर दिया है। इस टाइम टेबल में यह भी तय किया गया है कि प्रैक्टिकल टेस्ट देने के लिए स्टूडेंट्स को अपना वीडियो रिकॉर्ड करके देना होगा। यानी, स्टूडेंट्स अपनी जगह पर ही टाइम-टेबल और विषय के अनुसार प्रैक्टिकल एक्टिविटीज करते हुए वीडियो रिकॉर्ड करेंगे। उस वीडियो को गूगल ड्राइव या व्हाट्सएप्प (WhatsApp) की मदद से अपने परीक्षा केंद्राध्यक्ष/विभागाध्यक्ष/प्राचार्य को टाइम टेबल में निर्धारित तिथि के पूर्व भेजेंगे।

स्टूडेंट्स की मदद के लिए विश्वविद्यालय ने अपनी वेबसाइट पर इस सम्बन्ध में एक गाइड लाइन भी जारी की है, जिसे विस्तार से जानने के लिए https://www.iksv.ac.in/sites/default/files/scan0691.pdf पर क्लिक किया जा सकता है। विश्वविद्यालय के जन सम्पर्क अधिकारी विनोद डोंगरे ने बताया कि इस विश्वविद्यालय से इस समय तकरीबन 40 देशों के विद्यार्थी शिक्षा ले रहे हैं। यहाँ गायन, वादन, नृत्य, चित्रकला, फैशन डिजायन, मूर्तिकला, थिएटर, फोक म्यूजिक, हिंदी साहित्य, अंग्रेजी साहित्य, संस्कृत साहित्य, प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति एवं पुरातत्व, आपदा प्रबंधन, मानवाधिकार समेत अनेक ऐसे विषयों से सम्बंधित पाठ्यक्रम पढ़ाये जाते हैं, जो परफार्मिंग आर्ट्स पर आधारित है। ऐसी स्थिति में कुलपति, कुलसचिव, परीक्षा प्रभारी से लेकर सभी फैकल्टीज तक पूरा विश्वविद्यालय परिवार अध्यापन और मूल्यांकन की गुणवत्ता को लेकर सजग हैं।

जनसम्पर्क अधिकारी ने बताया कि इसी बात को ध्यान में रखकर विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग ने प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए WhatsApp और Google Drive की मदद से वीडियो भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित की है। यह व्यवस्था स्टूडेंट्स के लिए सुविधाजनक साबित होगी, साथ ही शासन के निर्देशानुसार Covid-19 के नियमों का समुचित पालन भी होगा।

Leave a Comment

ताजा खबर