खैरागढ़ पालिका के कण-कण में कमीशन और भ्रष्टाचार का खेल ! आप खैरागढ़ के नागरिक हैं, तो जरूर पढ़ें यह खबर


सीजी क्रांति न्यूज/खैरागढ़। शुक्रवार को नगर पालिका खैरागढ़ का सामान्य सभा हंगामेदार रहा। विपक्षी भाजपा पार्षदों ने जहां तीखे हमले किए वहीं कांग्रेस के एल्डरमेन मनराखन देंवागन ने अपनी ही पार्टी के अध्यक्ष शैलेंद्र वर्मा के खिलाफ सीधे भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। यही नहीं उन्होंने कहा कि उनके आरोपों की जांच के बाद वे एफआईआर तक कराएंगे। पालिका अध्यक्ष शैलेंद्र वर्मा ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा सभी काम नियमानुसार हो रहे हैं। कहीं कोई गलत नहीं है।

मनराखन ने भाजपा पार्षदों को भी घेरा कि वे भी इस भ्रष्टाचार को उजागर करने की बजाए डेढ़ साल से शांत बैठे हैं। श्री देवांगन ने भाजपा पार्षद व नेता प्रतिपक्ष अजय जैन पर भी नियमों के विपरित पालिका में सामान सप्लाई करने का आरोप लगाया।

मनराखन देवांगन ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, पालिका प्रशासन भ्रष्टाचार को छिपाने सूचना के अधिकार के तहज जानकारी मांगे जाने पर उसे उपलब्ध नहीं करा रही है। अध्यक्ष कक्ष के लिए 48 हजार की टीवी खरीदी गई है, जबकि वहां पहले से टीवी लगी थी। नया टीवी कहां लगाया गया है, इसका जवाब अध्यक्ष नहीं दे सके। यही नहीं मंगल भवन के नाम से बिल लगाया गया है जिसमें फ्रिज खरीदे जाने का उल्लेख है। मंगल भवन के लिए फ्रिज क्यों और किसके लिए खरीदी गई, अध्यक्ष शैलेंद्र वर्मा ने इसकी जानकारी नहीं होने की बात कही। मनराखन ने पलटवार करते हुए कहा अध्यक्ष को शर्म आनी चाहिए कि उन्हें पालिका में हो रहे कामों तक की जानकारी नहीं है। मरम्मत कार्य के नाम पर लाखों रूपए नए निर्माण में खर्च कर दिए गए। टेंडर के लिए नियमों का पालन भी नहीं किया गया है। इसे निरस्त करने की मांग की गई।

मनराखन ने कहा कि 71 लाख की कुर्सियां खरीदी गई है। इतनी कुर्सियां वार्डों में दिखा दें तो मैं अपने पद से इस्तीफा दे दुंगा। पानी टंकी की सफाई के नाम पर लाखों रूपए के बिल लगाए गए हैं जबकि टंकियां साफ हुई कि नहीं, इसका सत्यापन पार्षदों से कराया ही नहीं गया है। शहर के गार्डनों में झूला लगाने के नाम पर 8 लाख रूपए का बिल लगाया गया लेकिन गार्डनों में कहीं झूला नजर नहीं आ रहा। पालिका भवन में स्टील की 26 कुर्सियां लगाए जाने की बात कहीं जा रही है लेकिन वहां सिर्फ तीन ही कुर्सियां नजर आती है। बाकी कुर्सियां गायब है।

नेता प्रतिपक्ष अजय जैन पर सामग्री सप्लाई का आरोप
मनराखन ने सदन में कहा कि भाजपा पार्षद व नेता प्रतिपक्ष अजय जैन ने पालिका में सामान सप्लाई कर रहे हैं। जबकि नियमानुसार कोई भी जनप्रतिनिधि या उसके सगे रिश्तेदार पालिका में कोई भी सामग्री सप्लाई नहीं कर सकते। श्री देवांगन ने बिल में अजय जैन व उपस्थिति रजिस्टर में अजय जैन के हस्ताक्षर का भी सार्वजनिक मिलान किया। इस पर अजय जैन ने कहा कि आरोप को सिद्ध करके बताएं। यदि सिद्ध हो गया तो मैं अपने पद से इस्तीफा दे दुंगा।

भाजपा पार्षद विनय देवांगन ने आरोप लगाया कि खैरागढ़ की नालियों की सफाई के लिए पालिका ने 14 लाख की मशीन खरीदी है। इस मशीन की यहां कोई उपयोगिता ही नहीं है। इसके बावजूद जनता की गाढ़ी कमाई को पालिका ने व्यर्थ में खर्च कर दिया। उन्होंने स्वच्छता श्रृंगार योजना के तहत शौचालयों में हर महीने 1 लाख 80 हजार रूपए खर्च किए जाने पर भी सवाल उठाया। विनय ने सामान्य सभा में देर से किए जाने पर भी सवाल उठाया। और कहां कि सामान्य सभा देर से आयोजित किए जाने के कारण जाति प्रमाण पत्रों के सत्यापन में देरी हो रही है। इसकी वजह से बेवजह विद्यार्थियों को परेशान होना पड़ रहा है। बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। प्रवेश व भर्ती परीक्षा के लिए छात्रों व युवाओं को परेशानी हो रही है। सामान्य सभा में समय पर नहीं होने के कारण पालिका में जाति प्रमाण पत्र के 235 आवेदन लंबित पड़े हैं। यह घोर लापरवाही है।

नेता प्रतिपक्ष अजय जैन ने कहा कि फायर बिग्रेड की मरम्मत दो साल से नहीं हो रही है। इसकी खरीदी में भ्रष्टाचार किया गया है। ठेकेदार को पूरा पेमेंट कर दिया गया है। अध्यक्ष शैलेंद्र वर्मा ने कहा कि फायर बिग्रेड वाहन बनने गया है। इस पर श्री जैन ने कहा कि ऐसी क्या खराबी आ गई है कि दो साल में मरम्मत नहीं हो पाया। इतने में नई फायर बिग्रेड गाड़ी बन जाएगी।

Leave a Comment

ताजा खबर