खुलासा: पिपारिया के बैगा ने कहा पड़ोस की महिला कर रही जादू-टोना! गुस्से में भाई ने महिला का गला काट दिया

सीजी क्रांति न्यूज/खैरागढ़। एक दिन पहले खैरागढ़ के भरदाकला में हुए महिला के हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। भरदाकला निवासी मिलंतीन बाई की हत्या करने वाला उसी का पड़ोसी युवक सोहन बघेल निकला। पुलिस ने आरोपी को घटना के 8 घंटे के भीतर दबोच लिया गया। यह खुलासा शनिवार को प्रेसवार्ता में एसपी त्रिलोक बंसल ने किया।

जानकारी के अनुसार पूछताछ में आरोपी ने बताया कि मृतका उसकी बहन पर जादू-टोना करती थी। जिसकी वजह उसकी बहन की सालभर से तबीयत खराब थी। शुक्रवार को महिला जब घर में अकेली थी। तब वह भीतर घुसा और हंसिया से महिला के गले और सीने में वार कर फरार हो गया। पुलिस ने आरोपी सोहन बघेल को उसके मामा के गांव बाघतराई से गिरफ्तार किया। आरोपी सोहन ने 8 वीं तक पढ़ाई की है। उसकी दो बहन है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी सोहन बघेल 19 वर्ष ने बताया कि 14 मार्च की रात उसकी बहन को भूत पकड़ लिया। वह पड़ोस की ही रहने वाले कनचेतही उर्फ मिलवंतीन बाई का नाम बड़बड़ा रही थी। बीते सालभर से उसकी बहन बेसुध होकर अजीबो-गरीब हरकत करने लगी थी। उसे शक था कि उसकी बहन पर मृतका मिलंतीन जादू-टोना कर रही है। इससे वह गुस्से में था। उसे पिपारिया के किसी बैगा ने बताया था कि उसकी बहन पर पड़ोस की ही कोई महिला जादू-टोना कर रही है! इसके बाद से युवक ने महिला के प्रति रंजिश पाल रखा था।

15 मार्च को सुबह करीब 9 बजे जब वह पंचायत भवन के पास खड़ा था, तब उसने देखा कि मिलंतीन का बेटा और बहू खेत जा रहे हैं। इसके बाद वह मिलंतीन के घर घुसा। मिलंतीन बरामदा में खड़ी थी। सोहन ने उसका गला दबाकर धकेला। इसके बाद बचाव में मिलंतीन ने सोहन का बाल पकड़कर उसे नोंचने लगी। झूमाझटकी के बीच सोहन ने चूल्हे के पास रखे हंसिया को उठाया और मिलंतीन पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। सीने और गले में चोट के कारण अत्यधिक खून निकलने पर मिलंतीन ने वहीं दम तोड़ दिया। इसके बाद सोहन घर का दरवाजा बाहर से बंद कर वहां से भाग गया। घर पहुंचकर उसने खून से रंगे अपने कपड़े और जूते को जला दिया। इसके पहले उसने अपनी दादी मुन्नी बाई को बताया कि उसने कनचेतही उर्फ मिलंतीन का गेम कर दिया है। इस कत्ल की गुत्थी सुलझाने में सब इंसपेक्टर वीरेंद्र चंद्राकर, आरक्षक शैलेंद्र पटेल, लक्ष्मण साहू, मणिशंकर वर्मा, शिवलाल वर्मा, सायबर प्रभारी टैलेश सिंह, आरक्षक चंद्रविजय सिंह, त्रिभुवन यदु, जयपाल केवर्त्य, कमलाकात साहू की अहम भूमिका रही।

ऐसे मिला आरोपी का सुराग

दरअसल 15 मार्च को वारदात कर आरोपी सोहन मिलंतीन के घर से निकल रहा था। उसे गांव के ही धु्रव नाम के युवक ने देख लिया था। कुछ देर बाद जब मिलंतीन की हत्या की खबर फैली और पुलिस गांव पहुंचकर पूछताछ कर रही थी तब धु्रव ने बताया कि उसने सोहन को मिलंतीन के घर से निकलते देखा है। इसके बाद पुलिस ने सोहन की तलाश शुरू की। पता चला कि वह गांव में नहीं है। इसके बाद घरवालों से पूछताछ और अन्य अहम कड़ियों को जोड़ते हुए सोहन को उसके मामा के घर बाघतराई से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह कबूल लिया। आरोपी के खिलाफ पुलिस ने हत्या 302 और अपराध करने की नीयत से किसी के घर घुसने संबंधी धारा 450 के तहत जुर्म दर्ज किया है।

Leave a Comment

ताजा खबर