देवव्रत को अपमानित किया, उनका पुतला जलाया और अब चुनावी लाभ ले रहें— शिवरतन शर्मा

भाठापारा विधायक शिवरतन शर्मा ने प्रेसवार्ता के दौरान देवव्रत सिंह के पुतला दहन करने वाले कांग्रेसियों की पुरानी तस्वीर दिखाते हुए
भाठापारा विधायक शिवरतन शर्मा ने प्रेसवार्ता के दौरान देवव्रत सिंह के पुतला दहन करने वाले कांग्रेसियों की पुरानी तस्वीर दिखाते हुए

सीजी क्रांति/खैरागढ़। कांग्रेस की घोषणा पत्र को लेकर राजनीतिक दलों का पारा चढ़ा हुआ है। जहां कांग्रेस ने घोषणा पत्र में विधानसभा के मुख्य मुदृदों को कवर कर मास्टर स्ट्रोक खेला है। वही भाजपा उसी मास्टर स्ट्रोक का तोड़ निकालने में जुटी हुई है। इसी कड़ी में भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा ने भाजपा कार्यालय में प्रेसवार्ता लेकर घोषणा पत्र पर सवाल दागे। जिसमें दिवंगत विधायक देवव्रत सिंह की प्रतिमा स्थापना, इंदिरा कला संगीत विवि को केन्द्रीय यूनिवर्सिटी का दर्जा, गांव—गांव में पानी टंकी निर्माण और फूड प्रोसेसिंग यूनिट सहित अन्य वायदों को लेकर सवाल उठाए। वही विधानसभा चुनाव से पहले किए गए वायदों को लेकर भी याद दिया।

यह भी पढ़ें…सांसद संतोष पांडे का घोषणा पत्र पर पलटवार…बोले— कांग्रेस का घोषणा पत्र, झूठ का पिटारा!

भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा सवाल उठाते हुए बोले ने कहा कि घोषणा पत्र में कहा गया है कि कांग्रेस का विधायक बनने के बाद दिवंगत विधायक देवव्रत सिंह की प्रतिमा स्थापित की जाएगी और एक चौक का नामकरण किया जाएगा। उन्होंने कांग्रेस से सवाल किया कि ऐसी कौन परिस्थिति बनी कि देवव्रत को कांग्रेस छोड़कर जोगी कांग्रेस में जाना पड़ा। कांग्रेस में देवव्रत को अपमानित किया गया। चुनाव में लाभ लेने के लिये देवव्रत को सम्मान देने की बात कर रहे है। कल यही कांग्रेस उनका पुतला दहन करते थे। उन्होंने पूछा कि देवव्रत का पुतला दहन करने वाले पर क्या कार्यवाही करेंगे, क्या उनका पार्टी से निष्कासन करेंगे।

यह भी पढ़ें…..बृजमोहन अग्रवाल बोले, खैरागढ़ में जीतना मेरा ही नहीं विक्रांत सिंह की भी इज्जत का सवाल…

इसके अलावा कहा कि कांग्रेस ने घोषणा पत्र में इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय को केन्द्रीय विवि का दर्ज दिलाने की बात कहीं है। विधायक शर्मा ने पूछा की केन्द्र में ज्यादातर कांग्रेस सत्ता में रही, तब प्रयास क्यों नहीं किया गया। चुनावी लाभ लेने के लिए वायदे कर रही है। साथ ही केन्द्र की मोदी सरकार की जल जीवन मिशन योजना के तहत गांव—गांव में पानी टंकी का निर्माण हो रहा है। जिसे कांग्रेस ने खुदको श्रेय देकर घोषणा पत्र में शामिल किया है। जबकि यह योजना केन्द्र की भाजपा सरकार की है। वही उस पर काम भी चल रहा है।

वीडियो प्रमोशन

सीएम भूपेश बघेल द्वारा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की घोषणा पत्र में शामिल फूड प्रो​सेसिंग यूनिट को लेकर विधायक शिवरतन शर्मा ने भाजपा घेरा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के चुनाव के अपने घोषणा पत्र में छत्तीसगढ़ के हर जिले में फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगे होने की बात कही है। लेकिन पूरे छत्तीसगढ़ में ऐसा यूनिट कहीं लगा है। इसके अलावा अन्य मुदृों को लेकर पर भी कांग्रेस को घेरा।

यह भी पढ़े….खैरागढ़ की बात केवल हमारे साथ- कोमल जंघेल

विधायक शिवरतन शर्मा ने कांग्रेस सरकार को घेरते हुए कहा कि शराब बंदी के लिये बनी कमेटी को सवा तीन साल हो गये है। कमेटी में बंद करने सिफारिश नहीं है। कमेटी ने शराब का ब्रांड बढ़ाने की सिफारिश की। अभी रायपुर में एक रिकार्ड कायम हुआ। होली में एक दिन में 18 करोड़ का शराब बेचने का। बजट सत्र में भाजपा ने भूपेश बघेल को खुली चुनौती दी थी कि आप जिन 36 बिन्दु की घोषणा पत्र लेकर आए थे उसमें एक भी पूरा नहीं हुआ। इस पर किसी भी सार्वजनिक मंच में डिबेट करने को तैयार हैं लेकिन वो पीछे हट गये। भूपेश बघेल ने जो कहा उसे किया नहीं, कांग्रेस जनता को धोखा देने में लगी हुई है।

यह भी पढ़ें….खैरागढ़ उपचुनाव: कांग्रेस की चुनावी घोषणा पत्र पर रमन का तंज…पूछे पहले के चार जिला कहां है?

उन्होंने कहा कि भूपेश बघेल ने विस चुनाव के पहले भाठापारा को जिला बनाने की घोषणा की थी, जब मैंने सदन ये मुदृदा उठाया, तो भूपेश बघेल ने कहा— मैंने कहा था जब शिवरतन को हराओगे तब जिला बनेगा। विधानसभा में मेरा और धरमलाल कौशिक का प्रश्न था कि सवा तीन साल में कितने लोगों को शासकीय नौकरी दी गई, तो मुख्यमंत्री का लिखित जवाब है कि सरकार बनने के बाद 20 हजार लोगों को शासकीय नौकरी दी गई।

वीडियो प्रमोशन

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर के सार्वजनिक सभा में हुई तो उन्होंने 2 लाख 80 हजार लोगों को शासकीय नौकरी देने की बात कही थी और 5 लाख लोगों को रोजगार देने की बात कही थी। मुख्यमंत्री का भाषण सदन के अंदर कुछ होता है और बाहर में कुछ और। विधायक शर्म ने कहा कि मुख्यमंत्री के सामने उनकी तुलना द्वितीय विश्वयुद्ध में हिटलर का प्रचार—प्रसार करने वाले आदमी से की थी। हिटलर का प्रचारक झूठ को इस ठंग से प्रचारित करता था कि जनता को सत्य लगने लगे। मुख्यमंत्री और उनके मंत्री हिटलर के प्रचारक को भी मात देने में लगे हुये है।

वीडियो प्रमोशन

Leave a Comment

ताजा खबर