स्नातक की ऑफलाइन परीक्षा….छात्रों की समस्या और समाधान पर ऑनलाइन सेमिनार

ऑनलाइन सेमिनार
ऑनलाइन सेमिनार

सीजी क्रांति/खैरागढ़। कोरोना के चलते कॉलेज के स्नातक स्तर की परिक्षा दो साल तक ऑनलाइन संचालित हुई। लेकिन कोरोनाकाल गुजरने के बाद फिर पुराने पैटर्न पर यानि ऑफलाइन कराने की तैयारी कर ली गई है। जिसकी विश्वविद्यालय द्वारा नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है। जिससे छात्रों में डर बना हुआ है।

इसी डर को दूर करने के लिए ऑनलाइन सेमिनार का आयोजन किया गया। जिससे विद्यार्थियों का आत्मविश्वास बढ़े। जिसमे मुख्य वक्ता के रूप में प्रो डॉ बसंत सोनबेर (प्राध्यापक कमला कॉलेज राजनांदगाँव), डॉ आइडी आसिया (भूतपूर्व उप महानिदेशक भारतीय भू सर्वेक्षण विभाग कर्नाटक एंड गोवा), विप्लव साहू (मोटिवेशनल स्पीकर कैरियर काउंसलर), फुल दास साहू (माइंड ट्रेनर लाइफ कोच) सर प्रमुख थे।

इस दौरान वक्तागण ने कहा कि नाॅलेज इस पावर अर्थात सिर्फ पास होने के लिए नहीं, बल्कि नॉलेज के लिए भी पढ़िए। पेपर में डर कर नहीं डटकर सामना करें। सकारात्मक सोच रखें। पिछले साल के पेपर में जो प्रश्न आए थे। उन्हें बना कर देंखे, समय का प्रबंधन करके हर कार्य करें और टाइम टेबल बना कर पढ़े। जिससे आप तनाव से दूर रहेंगे और हमेशा सकारात्मक सोच रखें सब कुछ अच्छा होगा। सभी वक्ताओं ने विद्यार्थियों को आने वाले परीक्षा के लिए शुभकामनाएं दी।

ऑनलाइन सेमिनार में 80-90 की संख्या में छात्र छात्राएं शामिल हुए थे। जिसमें प्रमुख रूप से मनोज वर्मा, विनय जंघेल, डाली वर्मा , नाजिया खान, वीना वर्मा, रोशनी खरे, अंजली साहू, ललिता महिलांगे, अंजली साहू प्रमुख थे। आनलाईन सेमिनार का आयोजक विप्लव साहू, ओमकार वर्मा व प्रीति वर्मा रहे।

Leave a Comment

ताजा खबर