छत्तीसगढ़ के नक्सलियों को दूसरे राज्यों से मिल रहा हथियार-गोला बारूद, मुठभेड़ में जिंदा नक्सली गिरफ्तार


सीजी क्रांति/रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सलियों को दूसरे राज्यों से हथियार और गोला-बारूद सप्लाई किया जा रहा है। इसके पीछे कौन है, यह पता लगाने का प्रयास जारी है। बीते शुक्रवार को बीते शुक्रवार को कांकेर के ग्राम बिचपाड़ा में बीएसएफ और नक्सलियों के बीच हुए मुठभेड़ में एक महिला नक्सली गिरफ्तार हुई है। उसकी पहचान फगनी पोड़याम (24 साल) निवासी नारायणपुर के रूप में की गई। वो कोटरी रिवर एरिया कमेटी की एलओएस सदस्य है।

उसके पास से बीएसएफ की टीम ने एक रायफल, जिंदा कारतूस, 6 प्रशर कुकर आईडी, 7 मैकेनिजम, नक्सर ड्रस और आईईडी से संबंधित वायर सहित अन्य सामान जब्त किया। इस सर्च ऑपरेशन में बीएसएफ के दो जवान कांस्टेबल मानकराम और विकास घायल हुए हैं। घायल नक्सल महिला और जवानों को बीएसएफ की सीओवी में शिफ्ट किया गया। घायल जवानों का उपचार रायपुर एम्स में चल रहा है।

बीएसएफ के नक्सल ऑपरेशन में 175वीं वाहिनी को बड़ी सफलता मिली है। बीएसएफ के आईजी इंदराज सिंह ने बताया कि नक्सलियों के पास दूसरे राज्यों से हथियार और गोला बारूद पहुंचता है। इसका पता लगाया जा रहा है। आईजी इंदराज सिंह ने बताया कि उन्हें जिले के अलग-अलग जगहों पर नक्सली मूवमेंट की सूचना मिली थी।

इसके आधार पर बीएसएफ ने बड़ा ऑपरेशन तैयार किया। इसके लिए सात टीमें तैयार की गई थीं। सातों टीमें सीओबी, संगम, मरोड़ा, छोटेबेठिया, बड़ेझारकट्टा, मंडागांव, मेंड्रा और बड़गांव सक्रिय ऑपरेशन के लिए भेजा। सातों टीमें तय निर्देश के मुताबिक अपने-अपने इलाकें में उतार गईं। जब सीओबी मेड्रा की टीम उरपंजू के पटेलपारा के पास पहुंची।

घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने उनके ऊपर फायरिंग कर दी। बीएसएफ के जवानों ने भी नक्सलियों की फायरिंग का मुहतोड़ जवाब दिया। आधे घंटे तक चली फायरिंग के बाद नक्सली अंधेरे का फायदा उठाकर वहां से भाग गए। इसके बाद वहां बीएसएफ और डीआरजी का अतरिक्त बल बुलाया गया। उनके द्वारा मौके पर प्रभावी सर्च किया गया। वहां उन्हें एक महिला नक्सली घायल अवस्था में मिली।

Leave a Comment

ताजा खबर