अनियमित कर्मचारी नियमितीकरण की मांग को लेकर खोलेंगे मोर्चा, मुख्यमंत्री निवास का घेराव कर वादे की दिलाएंगे याद…

मुख्यमंत्री निवास घेराव
अनियमित कर्मचारी 14 जुलाई को मुख्यमंत्री निवास घेराव करेंगे।

सीजी क्रांति/रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चुनाव से पहले अपने घोषणा पत्र में अनियमित कर्मचारियों का नियमितीकरण करने का वादा किया था लेकिन 4 साल बाद भी अपना वादा पूरा नहीं कर पायी। जिसको लेकर अनियमित कर्मचारी 14 जुलाई को मुख्यमंत्री निवास घेराव करेंगे। इस प्रदर्शन के जरिए अनियमित कर्मचारी सरकार के वादे को याद दिलाएंगे।

यह भी पढ़ें… अनियमित कर्मचारियों को मिलेगी सौगात या फिर हाथ लगेगी निराशा !

छत्तीसगढ़ अनियमित कर्मचारी मोर्चा के प्रांतीय संयोजक गोपाल प्रसाद साहू ने कहा कि प्रदेश में कार्यरत अनियमित कर्मचारियों संविदा, दैनिक वेतन भोगी, कलेक्टर दर, श्रमायुक्त दर पर कार्यरत श्रमिक, प्लेसमेंट, मानदेय, अशंकालिक, जाबदर, ठेका अपने नियमितीकरण सहित 4 सूत्रीय मांगों को लेकर “छत्तीसगढ़ अनियमित कर्मचारी मोर्चा एवं छत्तीसगढ़ दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी फेडरेशन” के संयुक्त तत्वावधान में 14 जुलाई 23 को धरना-प्रदर्शन एवं मुख्यमंत्री निवास का घेराव करेगा।

यह भी पढ़ें… नियमितीकरण की मांग ने फिर पकड़ा जोर, खैरागढ़ में संविदा कर्मचारियों का अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू

छत्तीसगढ़ दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक रामकुमार सिन्हा ने बताया कि कांग्रेस ने अपने “जन-घोषणा-पत्र” के बिंदु क्रमांक 11 एवं 30 में अनियमित, संविदा एवं दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को नियमित करने, छटनी न करने तथा आउट सोर्सिंग बंद करने का वादा किया है। अनियमित संघो के आवेदनों का परिक्षण करने कमेटी बनाई गई जो आज पर्यंत रिपोर्ट नहीं सौंप सकी है। सरकार द्वारा अनियमित कर्मचारियों के समस्याओं पर किसी प्रकार कार्यवाही नहीं होने से अनियमित कर्मचारी व्यथित एवं आक्रोशित है।

यह भी पढ़ें… 4 जून से छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवाएं होगी बाधित! स्वास्थ्य कर्मचारियों ने किया हड़ताल का ऐलान, क्या है समस्या व मांगें, पढ़ें पूरी खबर

ये है मांगे…

  1. समस्त अनियमित, संविदा एवं दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी/अधिकारीयों को नियमित किया जावे तथा नियमितीकरण तक स्थायीकरण किया जावे।
  2. विगत वर्षों से निकाले गए/छटनी किये गए अनियमित कर्मचारियों को बहाल कर छटनी पर रोक लगाई जाए
  3. अंशकालिक कर्मचारियों को पूर्णकालीन किया जाए
  4. शासकीय सेवाओं में आउटसोर्सिंग/ठेका प्रथा को पुर्णतः समाप्त कर कर्मचारियों का समायोजन किया जावे तथा नियत अवधि में नियमित किया जाए।

मोर्चा एवं फेडरेशन के प्रेम प्रकाश गजेन्द्र, कमलनारायण साहू, चितरंजन दास, मिलापचंद यादव उमेंद कुमार मार्कंडेय, मनोज सोना, राजेश गुप्ता, अरुण वैष्णव, राजेश गुप्ता, इंदु कश्यप, दोगेन्द्र जंघेल, राजकुमार साहू, युगल साहू , अशोक बघेल, आशीष पाण्डेय, भीमा राम तांदी, रामप्रसाद मंडावी, मनोज कुमार, दमेश्वर साहू , शांति लाल कुमेठी, विनोद बघेल, केदार सिंह राजपूत, रामसकल मिंज, नारायण मरकाम, गिरधर पटेल , आशीष तनेजा, महेंद्र शिवारे, तर्निश जांगडे, हेमंत वर्मा , तापस राय ने सयुक्त रूप से प्रदेश के समस्त अनियमित संगठनों एवं कर्मचारी/अधिकारियों से अपील/आह्वान किया है कि आयोजित धरना-प्रदर्शन एवं मुख्यमंत्री निवास घेराव में “एक दिवस की अवकाश लेकर” अधिक से अधिक संख्या में सम्मिलित होकर कार्यक्रम को सफल बनावें।

Leave a Comment

ताजा खबर