एसबीआई कर्मचारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, शराब दुकान के 32 लाख रूपये की हेरफेर मामले में आया था नाम

खैरागढ़. नगर के बहुचर्चित सरकारी शराब दुकान के 32 लाख रूपये की हेरफेर मामले से जुड़े अम्बेडकर वार्ड निवासी करण वाल्मिक ने सोमवार की सुबह अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मिली जानकारी अनुसार करण सुबह उठकर दैनिक नित्यकर्म के बाद ऑफिस जाने की तैयारी कर रहा था. इसी दौरान उसकी पत्नि मंदिर चली गई, मंदिर से लौटने पर उसने करण को फांसी के फंदे में झूलता पाया. आनन-फानन में परिजनों ने उसे सरकारी अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने करण को मृत घोषित कर दिया.

पुलिस कार्रवाई पर भी उठ रहे सवाल

लाॅकडाउन के दौरान शराब दुकान की राशि 32 लाख रू. के हेरफेर का मामला उजागर होने के बाद पुलिस ने 11 मई को शहर के किल्लापारा निवासी अखिलेश सोनी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस पूछताछ में अखिलेश सोनी ने अपने बयान में बताया था कि शराब दुकान की 32 लाख रूपये में से बड़ी रकम स्थानीय एसबीआई शाखा में काम करने वाले करण वाल्मिक को ब्याज में बांटने के लिये दिया था। जिसके बाद खैरागढ़ पुलिस ने करण वाल्मिक से पूछताछ कर उसे छोड़ दिया था। अखिलेश सोनी के इस बयान के बाद से ही करण वाल्मिक लगातार मानसिक रूप से परेशान चल रहा था और लगातार पैसों की व्यवस्था करने के लिये अपने हाथ-पैर मार रहा था।

Leave a Comment

ताजा खबर