एसपी अंकिता शर्मा ने कहा-शराब की रोकथाम के लिए आने वाली पीढ़ी को सचेत करना जरूरी, यातायात नियमों का पालन करने से ही थमेगी सड़क दुर्घटना


सीजी क्रांति/खैरागढ़। शराबखोरी जैसी सामाजिक बुराई को खत्म करने के लिए समाज व खासकर महिलाएं बड़ी भूमिका निभा सकती हैं। शराब की रोकथाम के लिए आने वाली पीढ़ी को सचेत करना जरूरी है। शराब की लत व्यक्ति ही नहीं समाज पर भी दुष्प्रभाव डालती है। सड़क दुर्घटनाओं के पीछे एक वजह शराब और तेज गति से वाहन चलाने की प्रवृत्ति होती है। सड़क दुर्घटनाओं को तभी रोका जा सकता है जब सभी यातायात नियमों का पालन करे।
यह बातें जिला केसीजी की एसपी अंकिता शर्मा ने छुईखदान के ग्राम पडंरिया में अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन एवं जिला केसीजी पुलिस के तत्वावधान में आयोजित शराब एवं यातायात नियमों के संबंध में जियो और जीने दो जागरुकता महाअभियान कार्यक्रम में कहीं।

अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन केसीजी की जिला अध्यक्ष रानी राजलक्ष्मी तिवारी ने बताया कि संगठन के साथियों ने नुक्कड़ नाटक कर दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहनने, शराब पीकर वाहन नही चलाने, 18 वर्ष से कम उम्र के व्यक्ति को वाहन चलाने नही देने आदि यातायात नियमो की जानकारी दी। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक अंकिता शर्मा, पूर्व विधायक कोमल जंघेल, एसडीओपी खैरागढ लालचंद मोहले, जिला पंचायत सदस्य विप्लव साहू, सामाजिक कार्यकर्ता व पत्रकार राजू यदु थे।

मानवाधिकार संगठन जिला केसीजी की अध्यक्ष रानी राज लक्ष्मी तिवारी एवं पदाधिकारी हेमलता जैन उपाध्यक्ष, कोयल श्रीवास्तव उपाध्यक्ष, रैना सुयश बहाुदर सिंह महासचिव, निशा अग्रवाल निरीक्षण अधिकारी, स्मृता चौरे प्रवक्ता, लक्ष्मी लता जैन विधिक सलाहकार, सिमरन खजांची सचिव, अंजू शर्मा सचिव, मीनाक्षी जंघेल उपाध्यक्ष, मीडिया हेड शिवानी सिंह परिहार एवं थाना प्रभारी छुईखदान निरीक्षक जितेन्द्र बंजारे , ग्राम पंचायत पंडरिया सरपंच ज्योति सुरेंद्र जंघेल ,ग्राम पंचायत बुन्देली सरपंच इन्दरमन सिंह, विचारपुर सरपंच राजेश जंघेल, ग्राम संडी सरपंच कैलाश वर्मा, ग्राम जोम के सरपंच प्रतिनिधि पोसा अशोक, बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।

Leave a Comment

ताजा खबर