अजीत जोगी को पितातुल्य मानते थे देवव्रत सिंह, हमने परिवार का सदस्य खो दिया — रेणु जोगी

अजीत जोगी को पितातुल्य मानते थे देवव्रत सिंह

सीजी क्रांति/खैरागढ़। छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष व कोटा विधायक रेणु जोगी मंगलवार को कमल विलास पैलेस में स्व. देवव्रत सिंह के तेरहवीं कार्यक्रम में शामिल होकर शोकाकुल परिवार को ढांढस बंधाया। इस दौरान अमित जोगी ने भी स्व. सिंह की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित किया। जोगी परिवार ने करीब तीन घंटे पैलेस में बिताया।

मीडियाकर्मियों से चर्चा करते हुये रेणु जोगी ने बताया कि देवव्रत सिंह के आकस्मिक निधन पर उन्हें यकीन नहीं हो रहा। देवव्रत जी के साथ पारिवारिक रिश्ता है। स्व. सिंह अजीत जोगी को पितातुल्य मानते थे, इसलिये जोगी कांग्रेस में शामिल हुये थे। उनका निधन हमारे लिये व्यक्तिगत क्षति है।

श्रीमती जोगी ने बताया कि विधानसभा में भी हम दोनों साथ बैठते थे। इस दौरान राजनीतिक व पारिवारिक चर्चा होती थी। स्व. सिंह अच्छे वक्ता थे। श्रीमती जोगी ने विधानसभा उपचुनाव को लेकर पूछे गये सवाल पर कहा कि इस बारे में अभी कुछ सोचने की स्थिति में नहीं हैं। स्थिति सामान्य होने पर विचार किया जायेगा।

पढ़ें – खैरागढ़ राजघराने का दीपक बुझाने वाली उस काली रात की पूरी कहानी… राजकुमारी शताक्षी सिंह का Exclusive Interview

इस दौरान जनता कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष जरनैल सिंह भाटिया, जिला अध्यक्ष विष्णु लोधी, गीतांजलि पटेल, कोरकमेटी के सदस्य नवीन अग्रवाल, रवि चन्द्रवंशी, शमसुल आलम, भगवती वर्मा, लोकनाथ भारती, शेख जफर अली, अमर गोस्वामी, डोमेन्द्र वर्मा, टींकू देवांगन, महामंत्री चन्द्रभूषण यदु, पारस टांडेकर, लक्ष्मण डेहरे, सुरेन्द्र सिंह, मनोज जैन, मनसा राम सिमकर सहित बड़ी संख्या में जनता कांग्रेस के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

1 thought on “अजीत जोगी को पितातुल्य मानते थे देवव्रत सिंह, हमने परिवार का सदस्य खो दिया — रेणु जोगी”

Leave a Comment

ताजा खबर