वीर बाल दिवस : खैरागढ़ विश्वविद्यालय में सुमधुर संगीत से शहादत को सम्मान, विद्यार्थियों ने भाषण में भी दिखाई प्रतिभा

सीजी क्रांति न्यूज/खैरागढ़। इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ में 26 दिसंबर 2023 को वीर बाल दिवस मनाया गया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय स्तरीय भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतिभागी विद्यार्थियों ने अपने भाषण के माध्यम से दसवें सिख गुरू श्री गोविंद सिंघ जी के सुपुत्रों फतेह सिंघ और जोरावर सिंघ की शहादत पर अपने विचार रखे। इसके पूर्व विश्वविद्यालय के संगीत संकाय के विद्यार्थियों ने जब सुमधुर सांगीतिक प्रस्तुतियों से बाल वीरों की शहादत को स्मरण किया, तो समारोह भावपूर्ण हो गया। तालियों की गड़गड़ाहट से प्रेक्षागृह गूंज उठा।

ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुरूप, उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार, कुलपति पद्मश्री डॉ. ममता (मोक्षदा) चंद्राकर के संरक्षण में 26 दिसंबर 2023 को इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ में दसवें सिख गुरू गोविन्द सिंह जी के पुत्रों की शहादत को वीर बाल दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक श्रीमती यशोदा नीलाम्बर वर्मा मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति प्रो डॉ काशीनाथ तिवारी ने की।

कार्यक्रम में कुलसचिव प्रो डॉ नीता गहरवार, अधिष्ठाता प्रो डॉ नमन दत्त, नगर के वरिष्ठ नागरिक श्री मिहिर झा, जिला पंचायत के सभापति श्री विप्लव साहू, श्री देवेंद्र श्रीवास के साथ-साथ पूरा विश्वविद्यालय परिवार शामिल हुआ। कार्यक्रम के पहले चरण में अतिथियों तथा वक्ताओं के द्वारा दसवें सिख गुरू गोविन्द सिंह जी तथा उनके सुपुत्रों की जीवनी के बारे में विद्यार्थियों को विस्तार से जानकारी दी गयी।

कार्यक्रम के दूसरे चरण में इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के द्वारा सबद के माध्यम से वीर बाल दिवस पर आधारित सांगीतिक प्रस्तुतियाँ दी गयीं। प्रो. डॉ. नमन दत्त के निर्देशन में श्वेता शिवाले, विशाली कुमारी, श्वेता शर्मा, जसमीत कौर, शुभम ठाकुर, हरविंदर सिंह, विशाल रावत, रागेश्री रॉय चौधरी, राम जोंधले, अमित सूर्यवंशी और देवेंद्र मोंगरे की टीम ने शानदार प्रस्तुति दी। इस प्रस्तुति के लिए सूत्रधार की भूमिका शोधार्थी भरत बिदुआ ने निभाई।

कार्यक्रम के तीसरे चरण में विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने वीर बाल दिवस पर आधारित भाषण प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। इसके अंतर्गत प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों क्रमश रू कौशिकी बिल्लौरे, हृषिका माधवी शर्मा और पूर्वी बुले को पुरस्कृत किया गया। प्रतिस्पर्धा में हिस्से लेने वाले अन्य विद्यार्थियों पूनम शुक्ला, प्रियंका रघुवंशी, प्रवीण कुमार और पूर्वी नगाइच आदि की अभिव्यक्ति को भी प्रशंसा और तालियां मिलीं।

पूरे कार्यक्रम का रोचक और सफल संचालन हिन्दी विभाग के प्रमुख व अधिष्ठाता प्रो डॉ राजन यादव ने किया। भाषण प्रतियोगिता के लिए डॉ आशुतोष चौरे और श्री विवेक नवरे निर्णायक थे। कार्यक्रम में सहायक कुलसचिव श्री राजेश गुप्ता, डॉ. लिकेश्वर वर्मा, डॉ. दिवाकर कश्यप, डॉ. दीपशिखा पटेल, डॉ. नत्थू तोड़े, डॉ. हरिओम हरि, डॉ. दिवाकर कश्यप, डॉ. शिव नारायण मोरे, श्री इशांत दुबे आदि समेत पूरे विश्वविद्यालय परिवार ने हिस्सा लिया।

Leave a Comment

ताजा खबर