यशोदा वर्मा की नहीं दिखी छत्तीसगढ़िया झलक, दूसरी बार विधायक बनने के बाद हिंदी में ली शपथ

file photo


सीजी क्रांति न्यूज/खैरागढ़। खैरागढ़ विधानसभा सीट से कद्दावर नेता विक्रांत सिंह को हराकर दूसरी बार विधायक बनी यशोदा नीलांबर वर्मा ने 19 दिसंबर को हिंदी में शपथ ली। इस बार उनका छत्तीगढ़िया झलक देखने को नहीं मिला। 2022 के उप चुनाव में भाजपा के कोमल जंघेल को परास्त कर पहली बार विधायक निर्वाचित यशोदा वर्मा जब सर्वप्रथम विधानसभा पहुंची तब उनके छत्तीसगढ़िया पोशाक की खूब चर्चा हुई थी। वे ठेठ देसी अंदाज में विधानसभा पहुंची थीं।

पहली बार विधायक बनने के बाद छत्तीसगढ़िया पोशाक में यशोदा वर्मा पहुंची थी विधानसभा, तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत ने दिलाई थी विधायक पद की शपथ।

बता दें कि यशोदा वर्मा ने खैरागढ़ सीट से 5 हजार 634 मतों से विजयी हुई है। उन्हें खैरागढ़ के ग्रामीण क्षेत्र से बढ़त मिली थी। कांग्रेस की सरकार में छत्तीसगढ़ी भाखा का बोलबाला था। छत्तीसगढ़ियावाद तेजी से बढ़ रहा है। लिहाजा कांग्रेस नेताओं में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सामने खुद को ठेठ छत्तीसगढ़िया बताने की होड़ लगती थी।

CG Kranti News channel

Follow the CG Kranti News channel on WhatsApp

Leave a Comment

ताजा खबर

error: Content is protected By Piccozone !!