मंत्री रविन्द्र चौबे व नन्दकुमार बघेल द्वारा लोधी समाज का अपमान निंदनीय- कोमल जंघेल

मंत्री रविन्द्र चौबे व नन्दकुमार बघेल द्वारा लोधी समाज का अपमान निंदनीय

सीजी क्रांति/खैरागढ़। पूर्व विधायक व संसदीय सचिव एवं लोधी समाज के संरक्षक कोमल जंघेल ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल के द्वारा एक बीबीवी वीडियो में दिये बयान कि कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे लोधी समाज से नफरत करते है, इस बयान की घोर निंदा की है. बयान पर कोमल जंघेल ने आपत्ति करते हुये कहा कि लोधी समाज को लेकर मंत्री जी का विचार बहुत ही आपत्तिजनक है, उनको लोधी समाज से माफी माँगना चाहिए और लोधी समाज के सामने यह स्पष्ट करना चाहिए, यदि नंदकुमार बघेल का बयान गलत है तो मंत्री जी को इसका खंडन करना चाहिये।


पूर्व विधायक कोमल जंघेल ने अपने बयान में कहा है कि अभी-अभी एक बीबीवी की वीडियो वायरल हुई है जिसमे प्रदेश के मुख्यमंत्री जी के पिता ने अपने एक इंटरव्यू के माध्यम से स्पष्ट कहा है कि प्रदेश के मंत्री व साजा के वरिष्ठ विधायक रविन्द्र चौबे लोधियो से नफरत करते है और पिछड़ा वर्ग के लोगों को पसन्द नही करते। वे ओबीसी लोगो के खिलाफत रहते है जिंसकी वजह से पिछड़े वर्ग से सम्बंधित जीतने भी शिक्षक व अन्य कर्मचारी है उसे अपने विधानसभा से बाहर दूर दूर तक ट्रांसफर कर देते है। बयान में यह भी कहा है कि लोधी लोगो से नफ़रत करते है और उन पर राज भी करते है। साजा इलाके के लोधी समाज के लोकप्रिय नेता जो कांग्रेस में काफी दखल रखते है राजेन्द्र सिंग वर्मा जो मुख्यमंत्री के खास माने जाते थे उसे चौबे जी ने कुछ आधार बनाकर कांग्रेस पार्टी से निकलवा दिया।


इस तरह का बयान वीडियो के माध्यम से देकर नन्दकुमार बघेल ने स्पष्ट कर दिया है कि श्री चौबे जी लोधी समाज से अत्यंत नफरत करते है, चिढ़ते है, जबकि लोधी समाज के ही बदौलत आज वो राजनीतिक क्षितिज पर है, उनकी मानसिकता लोधियों के खिलाफ है. आज नंदकुमार बघेल के बयान से लोधी समाज का अपमान हुआ है और लोधी समाज का मंत्री जी द्वारा सिर्फ और सिर्फ राजनीतिक उपयोग कर रहे है. लोधियों को आगे बढ़ने से रोकते है। कोमल जंघेल ने आगे कहा है कि जिस लोधी समाज के दम पर श्री चौबे साजा विधानसभा में वर्षो से एक मजबूत नेता के रुप में स्थापित है, उस लोधी समाज के प्रति मंत्री जी की सोचा विचार गलत व निंदनीय है। श्री जंघेल ने कहा है कि लोधी समाज एक स्वभिमानी, सम्मानित व गौरव पूर्ण इतिहास से जुड़ा एक विशाल समाज है जिनका नाम इतिहास में दर्ज है. इस समाज के पूर्वज इस देश की स्वतंत्रता की लड़ाई में अपनी बहुत बड़ी भूमिका निभाई है जिसका अमिट छाप आज भी अंकित है. अनेक वीर-वीरांगनाओं ने इस धरती में बलिदान देकर इस देश की आजादी में बहुत बड़ी भूमिका का निर्वहन किया है। वीरांगना रानी अवंति बाई और संत सांसद ब्रम्हानन्द जी के वंशज है लोधी समाज जो राजनीतिक, सामाजिक, आध्यात्मिक क्षेत्र में पूरे देश मे एक अलग पहचान रखती है।


लोधी समाज एक मजबूत समाज है जो कृषक के रूप में अलग स्थान रखती है. राजनीतिक क्षेत्र में स्व. कल्याण सिंग जी पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल, श्रद्धेय उमाभारती जी पूर्व मुख्यमन्त्री मध्यप्रदेश, संत साक्षी महराज सांसद उन्नाव, प्रह्लाद पटेल मंत्री भारत सरकार जैसे राजनीतिक योद्धा को भी इस समाज ने दिया है. ऐसे समाज से किसी मंत्री द्वारा नफरत करना घोर निदनीय है तथा अपमानजनक है. श्री जंघेल ने इसकी कड़ी आलोचना की है और कहा है कि मंत्री जी समाज मे अपना वास्तविक विचार प्रगट करे या समाज से माफी मांगे। देश के उतरप्रदेश, मध्यप्रदेश, पंजाब, राजस्थान, हरियाणा, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, महाराष्ट जैसे अनेको राज्यों के साथ हमारे छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव, रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, ,बेमेतरा, कवर्धा, मुंगेली जिले में लोधी समाज निवास रहते है. पूरे लोधी समाज को इस बयान से आघात पहुचा है। छत्तीसगढ़ में लोधी समाज का सर्किल, जिला व प्रदेश स्तर पर संगठन बना हुआ है और सभी संगठन से कोमल जंघेल ने समाज के प्रदेश अध्यक्ष, जिला अध्यक्ष व पदाधिकारी से विनम्र अपील व आग्रह किया है कि अपने स्तर पर बैठक कर मंत्री जी व नन्दकुमार बघेल का निंदा प्रस्ताव पारित कर समाज के सम्मान की रक्षा करे।

Leave a Comment

ताजा खबर