आज कोई भी आदमी रामायण या महाभारत की एक भूमिका नहीं निभा सकता, लेकिन उससे सबक ले सकता है – विप्लव साहू

सीजी क्रांति न्यूज/ खैरागढ़। सांस्कृतिक, धार्मिक रूप से विभिन्न गावों में रामचरितमानस, जसगायन, झांकी मुड़पार, गर्रापार, जुरलाकला, सलगापाठ, करेला, रुसे, साल्हेभर्री आदि स्थानों आयोजित कार्यक्रमों में जिला पंचायत राजनांदगांव के सभापति विप्लव साहू बोले कि धर्म और अध्यात्म मनुष्य के लिए बहुत जरूरी और बहुत निजी चीज है। द्वापर, त्रेता और सतयुग वह अलग युग था, आज कलयुग सबसे महत्वपूर्ण है, आज योजना और कार्य से समाज और राष्ट्र मजबूत होगा। हम सिर्फ इतिहास को पकड़कर नहीं बैठ सकते, इतिहास हमें दिशा देगा लेकिन तरक्की हमें वर्तमान ही देगा।

किसी भी आयोजन के लिए आर्थिक व्यवस्था की जरूरत पड़ती है, जिसमें हम सब आर्थिक चंदा और सहयोग से ऐसे कार्यक्रम संपन्न करते हैं। तो हर मनुष्य को अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए पहले कार्य करना चाहिए। आज आदमी की पहचान उसके शौक कल से नहीं बल्कि उसके करियर से होती है। आज कोई राम, अर्जुन, कृष्ण, सीता, द्रौपती और कुंती नहीं बनना चाहेंगे। आज कोई भी आदमी रामायण या महाभारत की एक भूमिका नहीं निभा सकता, लेकिन उससे सबक ले सकता है, आज का युग संघर्ष, विज्ञान, शिक्षा इन तीनों चीजों को निर्धारित करके आगे बढ़ने का है।

विप्लव साहू ने कहा कि आपको किसी नेता से चाहे वह कितना ही बड़ा क्यों ना हा, उनसेे डरने की कोई जरूरत नहीं है। हम नेताओं को आप लोग ही बनाते हैं। आपके बिना हम कुछ भी नही लेकिन नेताओं को ध्यान से सुनना चाहिए, क्योंकि हवा और पानी को छोड़कर सभी चीजों पर नेता और राजनीतिक लोगों का ही नियंत्रण होता है। नेता ही सुविधा, सस्ता, महंगा, आदि को सीधा प्रभवित करते हैं। जब भी नेताओं को चुनने का अवसर आए मतदाताओं को पहले सजग बनना पड़ेगा। क्योंकि अच्छा नेता पाने के लिए अच्छा वोटर बनना जरूरी है।
कार्यक्रम में यदुकुमार साहू, वेदराम साहू, शिवशरण सिंह, चंपालाल साहू, दानी साहू, जवाहर वर्मा, एड शेखू वर्मा, गोपाल साहू, विजय वर्मा, विनोद साहू समेत बड़ी संख्या में ग्रामीण, महिलाएं और युवा वर्ग उपस्थित थे।

Leave a Comment

ताजा खबर